Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:
रेडियो वाटिकन

होम पेज / कलीसिया / एशिया की कलीसिया

ईश वचन युवाओं के लिए प्रकाशस्तंभ


पाकिस्तान, सोमवार, 8 अगस्त 2016 (वीआर सेदोक): ईश वचन पाकिस्तान के काथलिक युवाओं के लिए प्रकाश स्तम्भ है, इसी परिप्रेक्ष्य के साथ हैदराबाद धर्मप्रांत के काथलिक युवा आयोग ने सिंध में तीन दिवसीय बाईबिल कोर्स में भाग लिया।

हैदराबाद के ससम्मान सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष एवारिस्ट पींटो के नेतृत्व में आयोजित इस बाईबिल कोर्स में ‘लेक्सियो दिविना’ अर्थात् दिव्य पाठन को महत्वपूर्ण स्थान दिया गया।

‘लेक्सियो दिविना’ लातीनी शब्द है जिसका अर्थ है ″दिव्य पाठन″ जो बाईबिल पाठ करने के तरीकों की जानकारी देता है। इसके आधार पर बाईबिल पाठन द्वारा उसके संदेश को समझने का प्रयास किया जाता तथा ईश्वर की इच्छा को समझने की कोशिश की जाती है। 

फिदेस को मिली जानकारी के अनुसार महाधर्माध्यक्ष पीनटो ने 60 युवाओं के दल को सम्बोधित करते हुए ईश वचन के पाठन एवं चिंतन के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने विश्वासियों से अपने घरों में बाईबिल उपलब्ध कराने की मांग करते हुए युवाओं को बाईबिल पाठ करने में मदद करने का आग्रह किया।

तीन दिवसीय सेमिनार में युवाओं के साथ बाईबिल पाठन करते हुए महाधर्माध्यक्ष ने उन्हें उसके संदेश को अपने जीवन में अमल करने की सलाह दी। 

उन्होंने युवाओं द्वारा कलीसिया के जीवन में सहयोग पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कलीसिया में युवाओं के योगदान के महत्व पर गहन जागरूकता लाने की, विशेषकर, पल्लियों की प्रेरितिक कार्यों में सहभागिता की आवश्यकता है। 

हैदराबाद के धर्माध्यक्ष शुकारदिन समसोन ने युवाओं का आह्वान करते हुए उन्हें ईश वचन में दृढ़ता पूर्वक बने रहने की सलाह दी।