Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

इथियोपिया-एरिट्रिया शांति वार्ता 'वरदान'

एरिट्रिया के राष्ट्रपति इसायस अफवर्की बायें और इथियोपिया के प्रधानमंत्री अविया अहमद (दायें) हाथ मिलाते हुए - AP

18/07/2018 15:16

अदीस अबाबा, बुधवार 18 जुलाई 2018 (रेई) : एरिट्रिया के राष्ट्रपति इसायस अफवर्की का 20 वर्षों के बाद इथियोपिया का दौरा तथा अदीस अबाबा में पूर्वी अफ्रीका एएमइसीइए क्षेत्र के धर्माध्यक्षों का की 19वीं आमसभा का आयोजन, ये दो धटनायें संयोग से नहीं वरण इसमें ईश्वरीय योजना है यह बात धर्माध्यक्ष जुसेप्पे फ्रांजेल्ली ने कही। 

दो देशों के बीच दो दशक से चल रहे युद्ध की समाप्ति के एक सप्ताह से भी कम समय में एरिट्रिया ने इथियोपिया में अपने दूतावास को फिर से खोल दिया।

दो दशकों बाद इरिट्रिया के राष्ट्रपति इसाइस अफवर्की की इथियोपिया की पहली यात्रा के साथ सीमा पर सैन्य गतिविधि में तेजी से गिरावट आई। जहाँ युद्ध में हजारों लोगों की हत्यायें हुई हैं।

एक शब्द में शांति वार्ता

यूगांडा में लीरा के धर्माध्यक्ष जुसेप्पे फ्रांजेलि ने कहा, "वरदान सही शब्द है,क्योंकि ये चीजें संयोग से नहीं होतीं।" वे अदीस अबाबा में एएमइसीइए की आमसभा के दौरान फादर पॉल समसुमो से बात कर रहे थे। राष्ट्रपति अफवर्की की यात्रा उसी शहर में एएमइसीइए (पूर्वी अफ्रीका में सदस्य धर्माध्यक्षीय सम्मेलन संघ) की बैठक के साथ हुई।

'हमारी प्रार्थनाओं का उत्तर'

एरिट्रिया-इथियोपियाई युद्ध में कम से कम 80,000 लोग मारे गए, जो मई 1998 से जून 2000 तक हुआ था। धर्माध्यक्ष फ्रांजेल्ली ने कहा, "हम अफ्रीका में शांति और सुलह की मांग कर रहे हैं।" और "बहुत कुछ करना करना बाकी है। उन्होंने कहा कि अदीस अबाबा के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल बेरहानियस डेमरेव सूराफिल ने दो नेता की बैठक और शांति प्रयासों को "हमारी प्रार्थनाओं के लिए ईश्वर का जवाब" कहा।

धर्माध्यक्ष फ्रांजेल्ली ने कहा, "यह हमारे लिए आशा और प्रोत्साहन का संकेत भी है," न केवल उन नेताओं को बधाई देने के लिए जिन्होंने लड़ना बंद किया और बात करना शुरू किया था, लेकिन यह हमें आगे जाने का रास्ता भी दिखाता है।"

अफ्रीका: दुनिया के लिए संकेत

उन्होंने कहा कि इथियोपिया और एरिट्रिया के बीच शांति वार्ता "अफ्रीकी नेताओं की स्थानीय पहल" का प्रतिनिधित्व करती है, जो - यदि वे चाहते हैं तो- शांति के लिए तरीकों को ढूंढ सकते हैं। धर्माध्यक्ष फ्रांजेल्ली ने कहा कि अफ्रीका दुनिया के लिए एक संकेत हो सकता है। "अफ्रीका न केवल प्राप्त करने वालों में है परंतु अफ्रीका दुनिया के बाकी हिस्सों को भी बहुत कुछ दे सकता है।"


(Margaret Sumita Minj)

18/07/2018 15:16