Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

केरल में चार ओर्थोडोक्स पुरोहितों पर बलात्कार की प्राथमिकी दर्ज

प्रतीकात्मक तस्वीर - AP

04/07/2018 16:18

तिरुवनंतपुरम, बुधवार 4 जुलाई 2018 (उकान) : केरल पुलिस की अपराध शाखा, कोट्टायम के मुख्यालय मलंकारा ओर्थोडोक्स कलीसिया के कुछ पुरोहितों ने एक महिला के कथित यौन शोषण के मामले की जांच की। मंगलवार को पीड़िता की शिकायत पर चार पुरोहितों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की।

जांच दल का नेतृत्व करने वाले पुलिस महानिरीक्षक एस. श्रीजीथ ने कहा कि आरोपी की संख्या पर स्पष्टीकरण देते हुए चार पुरोहितों को बलात्कार के मामले पर प्राथमिकी दर्ज की गई है।

"यह सच था कि प्रारंभिक समाचार रिपोर्टों में पांच पुरोहित थे, लेकिन उनकी शिकायत में, उनमें से केवल चार का नाम दिया गया है।"

उन्होंने कहा कि महिला को अब मजिस्ट्रेट के समक्ष एक बयान देने के लिए कहा जाएगा और फिर जांच दल अगले कार्यवाही का फैसला करने के लिए मीटिंग करेगी। श्रीजीथ ने कहा, "फिलहाल, चार की गिरफ्तारी नहीं हो सकती है, क्योंकि औपचारिकताएं और प्रक्रियाएं की जा रही हैं।"

पिछले शुक्रवार को, केरल पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने पीड़िता के पति द्वारा किए गए आरोपों पर इस मामले में अपराध शाखा की जांच का आदेश दिया, जो मलंकारा ओर्थोडोक्स कलीसिया के सदस्य हैं।

एक ऑनलाइन पोर्टल ने पहली बार पिछले हफ्ते घटना की सूचना दी थी, जिसके बाद, विशेष रूप से सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं के ने कलीसिया पर जबरदस्त दबाव डाला, जिसके बाद आंतरिक जांच की घोषणा की गई।

पीड़िता के पति ने कहा है कि एक पुरोहित ने पहली बार अपनी पत्नी का शोषण किया था और वह उसे ब्लैकमेल कर रहा था। जब उसने किसी अन्य पुरोहित से मदद मांगी, तो उसने भी उसे धमकी दी और दूसरे साथी पुरोहित के साथ उसका संपर्क साझा किया और अंत में, वह कम से कम पांच पुरोहितों के दबाव में आई।

महिलाओं के लिए राष्ट्रीय आयोग द्वारा मामले की जांच शुरु करने के बाद केरल पुलिस ने अपनी जांच शुरू की और बेहरा को इस मामले की जांच करने का निर्देश दिया गया।

एफआईआर पंजीकृत होने के साथ, कलीसिया के आयोग द्वारा चल रही जांच निष्फल हो सकती है।


(Margaret Sumita Minj)

04/07/2018 16:18