Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

वाटिकन \ घटनायें

संत पापा ने विकलंगों की मदद हेतु बने केंद्र का दौरा किया

- RV

26/06/2018 16:09

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 26 जून 2018 (वाटिकन न्यूज़)˸ संत पापा फ्राँसिस ने 24 जून को "करुणा शुक्रवार" की परम्परा को जारी रखते हुए रोम स्थित "दुरांते ए दोपो दी नोई, कासा ओ.एस.ए." (हमारे साथ एवं हमारे बाद स्वस्थ्य कर्मी एसोशियेशन) जाकर वहाँ के 200 सदस्यों से मुलाकात की।  

संगठन के अध्यक्ष लुका मिलानेसे ने संत पापा को बतलाया कि वे उन सभी लोगों की खुशी एवं कल्याण का ख्याल रखते हैं जो उनके संगठन के सदस्य हैं और जिनकी संख्या आज इटली में करीब 50,000 है। उन्होंने बतलाया कि उनका उद्देश्य है कि जिन लोगों को सेवा प्रदान की जाए वे अपने स्वस्थ्य में सुधार कर सकें, वे अपने प्रियजनों एवं स्वस्थ्य कर्मियों की सहायता से आत्म-निर्भरता में बढ़ सकें। कासा ओ एस ए जीवन की एक ऐसी परियोजना है जो भावनाओं, मनोभवों, संबंधों को उत्साहित करता तथा मदद करता है कि स्वस्थ्य कार्यों से जुड़े कर्मचारी अपने बच्चों को वह प्रतिष्ठा प्रदान कर सकें जो उनके जाने पर भी उसे बनाये रख सकेंगे।    

संत पापा ने परिवार दिवस के प्रति आभार प्रकट करते हुए वहाँ उपस्थित लोगों को प्रोत्साहन दिया कि वे कल्पनाओं एवं प्रभु के साथ संयुक्ति में जीवन की सुन्दरता पर विश्वास करें।

"दोपो दी नोई" या हमारे बाद फाऊँडेशन क्या है?

यह फाऊँडेशन विकलांग लोगों की मदद करने वाला फाऊँडेशन है जहाँ विकलांग लोगों को लम्बे समय तक रखा जाता एवं उनकी मदद की जाती है। गैर-लाभकारी संगठन "दोपो दी नोई" की स्थापना सन् 1984 में विकलांग लोगों की मदद के लिए की गयी थी जहाँ लम्बे समय तक उनकी देखभाल की जाती हैं जब परिवार के लोग उनकी देखभाल करने में असमर्थ होते हैं।

 


(Usha Tirkey)

26/06/2018 16:09