Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ भारत

असम में बाढ़ से 4 लाख से अधिक लोग प्रभावित

मोरीगांव में बाढ़ - AP

18/06/2018 16:54

गुवाहाटी, सोमवार 17 जून 2018 (उकान) : रविवार को असम में बाढ़ की स्थिति लगातार बढ़ रही है, असम के छह जिलों में चार लाख से ज्यादा लोगों को प्रभावित हुए हैं और पिछले 24 घंटों में पांच और लोग मारे गए थे।

 असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अधिकारियों ने कहा कि होजई, कचार, गोलाघाट, हैलाकांडी, करीमगंज और पश्चिम करबी एंग्लोंग के 673 गांवों में कुल 4,48,495 लोग गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं और नदी में बाढ़ ने नागांव और मोरीगांव जिलों के फसल क्षेत्रों को भी प्रभावित किया है।

"एएमडीएमए के एक अधिकारी ने कहा," करीमगंज से एक, हैलाकांडी से एक और कचार से तीन लोगों ने बाढ़ में अपनी जान गंवा दी। इस साल बाढ़ की पहली लहर में कुल मौत की संख्या नौ हो गई है।

जल संसाधन प्रभाग, कार्यकारी अभियंता, ने सूचना दी है, कि "करीमगंज में, लांगई नदी में तीन स्थानों पर बाढ़ से प्राकृतिक बांध टूट गये हैं और दो बांध को तो वहाँ के लोगों ने खुद काट दिया है।"

नेमातिघाट (जोरहाट) में ब्रह्मपुत्र नदी का पानी खतरे के स्तर से उपर है, गोलाघाट, नुमालीगढ़ में धनशीरी नदी का पानी भी खतरे के स्तर से उपर बह रहा है।

इसी प्रकार, सोनितपुर में जिया भारली नदी, नागाओन (कचार) बराक नदी और बदरपुरघाट (करीमगंज) में कोपिली और करीमगंज में करीमगारा नदी का पानी खतरे के स्तर से उपर बह रहा है।

राष्ट्रीय आपदा बचाव दल और राज्य आपदा बचाव दल, बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में खोज और बचाव अभियान के लिए सेवा में शामिल हैं। एक अधिकारी ने कहा, "सीडीआरएफ और एनडीआरएफ कर्मियों द्वारा करीमगंज, हैलाकंदी और कचार जिले के 6,153 लोगों को बचाया गया।"

करीमगंज, हैलाकांडी, करबी एंग्लोंग (पश्चिम), होजई और कचार में कुल 235 शिविर कार्यरत हैं, जिसमें रविवार को 1,73,245 लोगों ने आश्रय लिया है। होजई, कचार और करीमगंज में 246 राहत वितरण केंद्र भी परिचालित हैं।


(Margaret Sumita Minj)

18/06/2018 16:54