Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

वाटिकन \ घटनायें

संत पापा फ्राँसिस ने निकारागुआ में शांति के लिए अपील की

विरोध प्रदर्शन में मारे गये लोगों का अंतिम संस्कार - REUTERS

04/06/2018 15:11

वाटिकन सिटी, सोमवार 4 जून 2018 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने लैटिन अमेरिकी राष्ट्र में हुई हिंसा के लिए अपने दुख को व्यक्त करते हुए निकारागुआ में शांति के लिए अपील की जहाँ प्रदर्शनकारियों पर सरकारी कार्रवाई द्वारा कई लोगों की मौत हो गई।

संत पापा फ्राँसिस ने रविवार 3 जून को संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्रांगण में विश्व के विभिन्न देशों से आये विश्वासियों और तीर्थयात्रियों के साथ देवदूत की प्रार्थना का पाठ करने के उपरांत निकारागुआ में हुए हिंसा के लिए अपना "गहरा दुख" व्यक्त किया जिसमें मरने वालों की संख्या 110 हो गई और अनेकों घायल हुए।

निकारागुआ के धर्माध्यक्षों की चिंताओं में खुद को सम्मिलित करते हुए संत पापा ने सभी प्रकार की हिंसाओं का अंत करने की मांग करते हुए तथा पीड़ितों और उनके परिवारों के लिए प्रार्थना की।

उन्होंने कहा कि कलीसिया हमेशा वार्ता के पक्ष में है लेकिन "स्वतंत्रता और सबसे ऊपर, जीवन के लिए सक्रिय वचनबद्धता की आवश्यकता है।"

राष्ट्रपति डैनियल ओर्टेगा द्वारा अप्रैल में पेंशन और सामाजिक सुरक्षा में कटौती के बाद निकारागुआ में व्यापक विरोध प्रदर्शन हुआ है। इसे देख उन्होंने जल्दी ही कानून को रद्द कर दिया, लेकिन वे स्वयं विरोध प्रदर्शन का केंद्र बन गये।

गिरजाघर की घेराबंदी

शनिवार को, पुलिस ने मानागुआ राजधानी के करीब 20 किमी दक्षिण में मसाया में एक काथलिक गिरजाघर की घेराबंदी की जहाँ लगभग 30 विपक्षी समर्थकों ने शरण ली थी पुलिस और समर्थक सरकारी मिलिशिया ने उन पर हमला किया। जिससे दो लोगों की मौत गिरजाघऱ में हो गई। उसके बाद स्थानीय कलीसिया के अधिकारियों के हस्तक्षेप पर वहाँ छिपे लोगों को रिहा कर दिया गया।

 


(Margaret Sumita Minj)

04/06/2018 15:11