Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

वैश्विक माता-पिता दिवस के अवसर पर महाधर्माध्यक्ष औजा का स्वागत भाषण

करेन डाउनी स्कोटलैंड का परिवार - REUTERS

02/06/2018 16:14

न्यूयॉर्क,शनिवार 2 जून 2018 (रेई) :  संयुक्त राष्ट्र संघ के लिए वाटिकन के स्थायी पर्यवेक्षक एवं प्रेरितिक राजदूत महाधर्माध्यक्ष बेर्नादीतो औजा ने 1जून को न्यूयॉक में वैश्विक माता-पिता दिवस के अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित किया।

उन्होंने सभा में उपस्थित प्रतिभागियों और अतिथियों का स्वागत कर कहा कि 17 सितम्बर 2012 को संयुक्त राष्ट्र आम सभा ने संकल्प 66/292 को 1 जून को माता-पिता का वार्षिक वैश्विक दिवस होने का ऐलान किया, जो दुनिया भर में जीवनभर अपने निःस्वार्थ, समर्पण के लिए समर्पित हैं ताकि वे अपने बच्चों को पोषित और संरक्षित कर सकें और मनुष्यों के रूप में उनकी पूर्ण परिपक्वता में उनकी मदद कर सकें।

महाधर्माध्यक्ष बेर्नादीतो ने कहा, “वाटिकन के स्थायी पर्यवेक्षक मिशन और विश्व शांति संघ द्वारा वैश्विक माता-पिता दिवस के इस छठी वर्षगांठ पर इस सम्मेलन में आपका स्वागत करने के लिए मुझे विशेष खुशी मिली। इस दिन माता-पिता का बच्चों और समाज पर महत्वपूर्ण और सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।”  

माताओं और पिताजी का महत्व  और अगली पीढ़ी को बढ़ाने में उनकी संयुक्त प्रतिबद्धता को कभी दरकिनार नहीं किया जा सकता है। मानवता का भविष्य इस बात पर निर्भर करता है कि "गृह विद्यालय" में शिक्षकों के रूप में उनके मिशन में माता और पिता कितनी अच्छी तरह से करते हैं, जहां वे अपने बच्चों को सामाजिककरण, विश्वास, आपसी सम्मान और जिम्मेदारी, शिक्षा, कड़ी मेहनत, स्नेह, करुणा, क्षमा, एकजुटता, और नैतिक विकास जैसे कई आवश्यक मानव मूल्यों के साथ उन्हें बड़ा करते हैं।

महाधर्माध्यक्ष औजा ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के चार स्तंभों में शांति सबसे मौलिक है, इसके बिना अन्य स्तंभों को हासिल नहीं किया जा सका। लेकिन अच्छे माता-पिता की देखभाल  अन्य तीनों के लिए आवश्यक है, जो विकास, मानव अधिकारों के प्रचार एवं रक्षा और अंतरराष्ट्रीय समझौतों और संधि को बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं।

लोगों को गरीबी से बाहर उठाने के लिए उचित परिवारिक शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, समानता आदि आवश्यक है। मानव गरिमा के आधार पर मानवाधिकारों का सम्मान लोगों के परिवार के सदस्यों के प्रति सम्मान सीखने के तरीके से होता है, इस प्रकार हम परिवार में एक दूसरे के लिए प्रेम, एकता, भाईचारे, सच बोलना, सच्चाई के लिए खड़ा होना आदि बचपन से ही माता पिता से पाते हैं।  

वैश्विक माता-पिता के दिवस के इस वार्षिक समारोह का उद्देश्य पारिवारिक बंधन बहाल करना है। माता-पिता के इस वैश्विक दिवस को विशेष रूप से बच्चों और समाज के अच्छे पक्षों के लिए माताओं और पिता के योगदान को समझना और स्वीकार करना चाहिए। दुनिया केवल अपने परिवारों के रूप में मजबूत होगी, और परिवार केवल अपने माता-पिता के रूप में मजबूत होंगे। हमारे ग्रह पर शांति घर में शांति से शुरू होती है। हमारे समाज का टिकाऊ विकास माता-पिता के काम पर निर्भर करता है जो न सिर्फ बच्चों को पैदा करते बल्कि उन्हें पूरी तरह से विकसित वयस्क के रुप बढ़ने में मदद करते हैं। मानव गरिमा और अधिकारों का सम्मान पारिवारिक प्रेम के स्कूल से अधिक आसानी से विकसित होता है। चूंकि दुनिया का भविष्य आज परिवारों पर निर्भर करता है, इसलिए माता-पिता और भावी माता-पिता को एक प्रतिबद्ध गतिशील जोड़ी के रूप में व्यक्तिगत रूप से और पारस्परिक रूप से अपनी अनिवार्य भूमिका निभाने के लिए तैयार, समर्थित और प्रोत्साहित किया जाना चाहिए।


(Margaret Sumita Minj)

02/06/2018 16:14