Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

जहां कहीं भी प्यार है, वहां ईश्वर है, संत पापा फ्राँसिस

गरीबों को रोटी देती हुई एक महिला - AP

28/05/2018 16:29

वाटिकन सिटी, सोमवार 28 मई 2018 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने जीवन की क्षणभंगुता में मूल्यवान खजाने को पाने का प्रयास करने की प्रेरणा दी।

सोमवार 28 मई के ट्वीट संदेश में उन्होंने लिखा,“जीवन में कौन सी वस्तु है जो स्थायी रहता है? जीवन में किस चीज का मूल्य है? कौन से खजाने गायब नहीं होते? निश्चित रूप से दो : ईश्वर और हमारे पड़ोसी।”

रविवार 27 मई को कलीसिया ने ‘पवित्रमय त्रित्व’ का महोत्सव मनाया। यह पेंतेकोस्त के बाद के रविवार को मनाया जाता है। इस महोत्सव के अवसर पर संत पापा ने संदेश में लिखा,“पवित्रमय त्रित्व का रहस्य हमें एक दूसरे के साथ, प्यार और साझा करते हुए मिल-जुल कर रहने के लिए आमंत्रित करता है : यह तो निश्चित है कि जहां कहीं भी प्यार है, वहां ईश्वर है।"


(Margaret Sumita Minj)

28/05/2018 16:29