Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

वाटिकन \ घटनायें

संत पापा फ्रांसिस यौन दुराचार के संदर्भ में चिली धर्माध्यक्षों के साथ मुलाकात करेंगे

संत पापा फ्राँसिस चीले के संत्यागो महागिरजाघर में धर्माध्यक्षों के साथ 16 जनवरी 2018 - REUTERS

14/05/2018 15:19

वाटिकन सिटी, सोमवार 14 मई 2018 (वीआर,रेई) : संत पापा फ्रांसिस वाटिकन में चिली के धर्माध्यक्षों के साथ मुलाकात करेंगे, जिन्होंने याजकों द्वारा यौन दुर्व्यवहार घोटाले की बारीकी से जांच पड़ताल करने के लिए सभा का आयोजन किया है।

वाटिकन प्रेस कार्यालय ने शनिवार को एक बयान जारी किया कि संत पापा फ्राँसिस चिली के धर्माध्यक्षों के 15 से 17 मई तक हो रहे सभा में उपस्थित रहेंगे, ताकि चिली में याजकों द्वारा यौन शोषण के पीड़ितों के खिलाफ चूक, साथ ही कुछ मामलों को छिपाने के कारणों और परिणामों का गहराई से जांच हो सके।

संत पापा फ्राँसिस माल्टा के महाधर्माध्यक्ष चार्ल्स स्किकलुना की अध्यक्षता में चिली के यौन दुर्व्यवहार घोटाले की 2 सदस्यीय तथ्य-खोज मिशन के बाद अपने व्यक्तिगत निष्कर्षों को साझा करेंगे और हाल के सप्ताहों में संत पापा को प्राप्त होने वाले कई लिखित और मौखिक साक्ष्य को भी साझा करेंगे।

पर्याप्त स्थायी परिवर्तन

संत पापा फ्राँसिस धर्माध्यक्षों की मंडली के प्रीफेक्ट कार्डिनल मार्क ओउलेट के साथ मिलकर, चिली के 33 धर्माध्यक्षों सहित दो सेवानिवृत्त धर्माध्यक्षों की बैठकों का सभापतित्व करेंगे। वाटिकन प्रेस कार्यालय ने कहा, "इस लंबी धर्मसभा  प्रक्रिया' का उद्देश्य ईश्वर की उपस्थिति में, इन विनाशकारी घावों के लिए हम में से प्रत्येक की ज़िम्मेदारी, तथा पर्याप्त और स्थायी परिवर्तनों का एक साथ अध्ययन करना और समझना है जिससे इन ग़लत कृत्यों को दोहराए जाने से रोका जा सके। "

"अच्छे पुरोहितों के माध्यम से कलीसिया के प्रति विश्वास बहाल करना मौलिक है, जो अपने जीवन द्वारा भले चरवाहे का साक्ष्य देते हैं और यौन शोषण के पीड़ितों के प्रति सहानुभूति रखना जानते हैं साथ ही इस दुर्व्यवहार की रोकथान के लिए एक दृढ़ और कठोर कदम उठाना जानते हैं।"

विज्ञप्ति में कहा गया कि संत पापा धर्माध्यक्षों से पवित्र आत्मा के प्रति उनकी विनम्रता के लिए धन्यवाद देते हुए, चिली के सभी विश्वासियों से अनुरोध किया है कि वे इन दिनों कलीसिया को नवीनीकृत करने के लिए प्रार्थना जारी रखें।


(Margaret Sumita Minj)

14/05/2018 15:19