Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

यौन शोषण के शिकार लोगों के प्रति काथलिकों की एकात्मता

मुम्बई कलीसिया प्रतीकात्मक तस्वीर

03/05/2018 16:01

मुम्बई, बृहस्पतिवार, 3 मई 2018 (मैटर्स इंडिया) ˸ मुम्बई के काथलिकों ने 1 मई को छः विभिन्न स्थलों में एकत्र होकर यौन शोषण के शिकार लोगों के प्रति एकात्मता व्यक्त की।

मुम्बई महाधर्मप्रांत के न्याय एवं शांति आयोग द्वारा आयोजित "क्योंकि हम चिंता करते हैं" शीर्षक कार्यक्रम में करीब 1,000 लोगों ने भाग लिया।

उन छः स्थलों में प्रार्थना सभा का संचालन किया गया, साथ ही साथ, धर्मगुरूओं एवं आयोग के सदस्यों द्वारा संदेश दिये गये।

एक ज्ञापन सौंपने के लिए हस्ताक्षर भी किये गये जिसे महिलाओं और बाल विकास हेतु संघीय मंत्री मेनका गांधी को प्रस्तुत किया जाएगा।

बोरिवली के संत फ्रांसिस ऑफ असीसी हाई स्कूल में समारोह में भाग लेने वाले एंड्रयू फर्नांडीस ने कहा "इस कार्यक्रम का आयोजन देश में तनावपूर्ण राजनीतिक स्थिति और सभी बढ़ते बलात्कार के मामलों के बीच शांति के संदेश को फैलाने के लिए किया गया था।, "यह विशेष रूप से अन्याय से पीड़ितों के लिए हमारा समर्थन दिखाना था।"

खार स्थित संत विन्सेंट दी पौल गिरजाघर के पल्ली पुरोहित ऑस्टिन नॉरिस ने कहा कि कार्यक्रम महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के मामले में असफल संस्कृति के संबंध में आयोजित की गई थी।

फादर ने बतलाया कि उन्होंने विले पार्ले के प्रार्थना सभा में भाग लिया था जिसमें उन्होंने महिलाओं और बच्चों की रक्षा के लिए प्रतिज्ञा की। उन्होंने कहा कि हम समाज में गंभीर अपराधों की बढ़ती दर से चिंतित हैं।


(Usha Tirkey)

03/05/2018 16:01