Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ एशिया

संत पापा और कोरियाई धर्माध्यक्षों द्वारा "दो कोरियाई" शिखर सम्मेलन के सकारात्मक नतीजे का स्वागत

उत्तरी कोरियाई नेता किम जोंग यून (दायें) और दक्षिण कोरियाई नेता मून जेई-इन (बायें) - AP

30/04/2018 15:21

वाटिकन सिटी, सोमवार 30 अप्रैल 2018 (वीआर,रेई) : रविवार को संत पापा फ्राँसिस ने संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में स्वर्ग की रानी प्रार्थना का पाठ करने के उपरांत कहा कि वे इस हफ्ते ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन के दौरान उत्तरी और दक्षिण कोरिया के नेताओं द्वारा निर्धारित प्रक्रियाओं के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वे पड़ोसी देशों के बीच निरंतर सहयोग और दोस्ती के लिए एवं कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु हथियारों को खत्म करने के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। भविष्य में युद्ध मुक्त करने के लिए शुक्रवार को उत्तरी कोरियाई नेता किम जोंग यून की प्रतिज्ञा के बाद संत पापा ने उक्त बात कही।

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति के प्रवक्ता के मुताबिक उत्तरी कोरियाई नेता किम जोंग यून ने निजी तौर पर दक्षिण कोरिया को बताया कि यदि वे अन्य चीजों के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका एक गैर-आक्रामक समझौता प्रदान करता है तो वह परमाणु हथियार छोड़ देगा। राष्ट्रपति के प्रवक्ता यून योंग-चान ने कहा कि किम कह चुके हैं कि वह मई में परमाणु परीक्षण स्थल को बंद कर देंगे.

यून ने आगे कहा कि उत्तर कोरिया के नेता ने यह भी कहा है कि "वह उत्तर कोरिया और अमरीका के विशेषज्ञों को यह देखने के लिए आमंत्रित करेंगे ताकि इस प्रक्रिया के बारे में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को पारदर्शिता के साथ पता चल सके।"

उनकी सार्वजनिक घोषणा में, किम और दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जेई-इन सड़क और रेलवे संधियों सहित सीमा पार संचार पर काम फिर से शुरू करने पर सहमत हुए। रविवार को दक्षिण कोरिया परिवहन मंत्रालय ने कहा कि उसने निर्माण योजनाओं की समीक्षा शुरू कर दी है जिसे पहले तैयार किया गया था और फिर संबंधों में कटूता आने की वजह से निलंबित कर दिया गया था।

एक सरकारी मंत्री ने रविवार को कहा कि सियोल रेड क्रॉस के लिए कोरियाई युद्ध द्वारा विभाजित उत्तर और दक्षिण कोरियाई बुजुर्ग लोगों को दोबारा मिलाने के लिए जल्द से जल्द वार्ता शुरू करने के लिए दबाव डालेगा। मंत्री ने कहा, परिवार के पुनर्मिलन की व्यवस्था करने में समय लगता है परंतु इस मामले को प्राथमिकता दी जाएगी।

इस बीच, कोरिया के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने शिखर सम्मेलन के नतीजे का स्वागत किया है। एक बयान में, महाधर्माध्यक्ष किम हे-जंग ने कहा कि ईश्वर काथलिकों की प्रार्थनाओं का उत्तर दे रहे हैं और कलीसिया और सहायता एजेंसी अंतर्राष्ट्रीय कारितास कोरिया द्वारा सुलह प्रक्रिया को पुरस्कृत कर रहे हैं।


(Margaret Sumita Minj)

30/04/2018 15:21