Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ मुलाक़ात

विल्लानोवा विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों से संत पापा की मुलाकात

विल्लानोवा विश्वविद्यालय के अध्यक्ष एवं न्यासी से मुलाकात करते संत पापा

14/04/2018 15:03

वाटिकन सिटी, शनिवार, 14 अप्रैल 2018 (रेई)˸ संत पापा फ्राँसिस ने शनिवार 14 अप्रैल को वाटिकन स्थित क्लेमेनटीन सभागार में, फिलाडेलफिया के विल्लानोवा विश्वविद्यालय के अध्यक्ष एवं न्यासी से मुलाकात की।

विल्लानोवा विश्वविद्यालय की स्थापना सन् 1842 ई. में ऑर्डर ऑफ संत अगुस्तीन द्वारा हुई है। विश्वविद्यालय के अध्यक्ष एवं न्यासी इन दिनों रोम में एक सभा में भाग ले रहे हैं।

संत पापा ने उन्हें सम्बोधित कर कहा, "महान अगस्तीनियन परम्परा के उतराधिकारी होने के नाते दिव्य ज्ञान की खोज से प्रेरित, आपके विश्व विद्यालय की स्थापना, नई पीढ़ी के विद्यार्थियों के लिए काथलिक परम्परा को सुरक्षित रखने एवं उसकी समृद्धि को हस्तांतरिक करने के लिए की गयी है जो युवा अगस्टीन की भांति जीवन के सच्चे अर्थ और मूल्य की खोज करते हैं। इस दर्शन के प्रति निष्ठा में, विश्व विद्यालय एक अनुसंधान एवं अध्ययन करने वाले समुदाय के रूप में, आज हमारे विश्व में, युग परिवर्तन के कारण उठने वाली जटिल नैतिक एवं संस्कृतिक चुनौतियों का सामना करे।"

संत पापा ने आशा व्यक्त की कि विल्लानोवा विश्वविद्यालय अपने हर दृष्टिकोण एवं मिशन में बौद्धिक, आध्यात्मिक एवं नैतिक मूल्यों को प्रदान करने के प्रयास को बनाये रखेगा जो युवाओं को समाज के भविष्य निर्माण करने वाले विचार-विमर्शों में विवेक एवं उत्तरदायित्व पूर्वक भाग लेने में मदद देगा।

संत पापा ने उनकी जिम्मेदारियों की याद दिलाते हुए कहा, "शैक्षिक कार्य का एक अनिवार्य पहलू है मानव परिवार तथा गंभीर असमानता एवं अन्याय द्वारा चिन्हित विश्व का सामना करने के लिए, ठोस एकात्मता हेतु प्रतिबद्धता के लिए एक सार्वभौमिक एकता के "काथलिक" दर्शन का विकास करना। सच्चाई, न्याय तथा हर स्तर पर मानव प्रतिष्ठा की रक्षा करने हेतु विश्वविद्यालय स्वतः वार्ता एवं मुलाकात की कार्यशाला बनने के लिए बुलाये जाते हैं।"

संत पापा ने कहा कि काथलिक संस्थानों की जिम्मेदारी और बड़ी है जो मानव परिवार को ईश्वर में परिपूर्णता प्राप्त करने हेतु सच्चे एवं समग्र विकास के कलीसिया के मिशन में सहयोग देते हैं।  

संत पापा ने संत अगुस्तीन का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने ईश्वर में विश्राम पाने की मानव हृदय की लालसा को सबसे अधिक अनुभव किया था जो येसु ख्रीस्त में हमारे जीवन की गूढ़ सच्चाई एवं अंतिम लक्ष्य को प्रकट करते हैं।  

उन्होंने शुभकामनाएं दीं कि वे इन दिनों के चिंतन, विचार-विमर्श और मुलाकात द्वारा, स्वतंत्र करने वाली सच्चाई की सेवा के विश्वविद्यालय के मिशन में समर्पण को सुदृढ़ कर सकें।

संत पापा ने विल्लानोवा विश्वविद्यालय परिवार के सभी लोगों के लिए संत अगुस्तीन एवं संत मोनिका की मध्यस्थता द्वारा प्रार्थना करते हुए, पुनर्जीवित प्रभु के आनन्द एवं शांति की कामना की तथा उन्हें अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया।    

विल्लानोवा विश्वविद्यालय की स्थापना सन् 1842 ई. में ऑर्डर ऑफ संत अगुस्तीन द्वारा हुई है।


(Usha Tirkey)

14/04/2018 15:03