Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ विश्व की कलीसिया

मैक्सिकन धर्माध्यक्षों ने अमेरिकी सरकार को याद दिलाया कि सीमा युद्ध क्षेत्र नहीं है

मैक्सिकन धर्माध्यक्ष - AP

11/04/2018 15:46

वाटिकन रेडियो, बुधवार 11 अप्रैल 2018 ( वीआर, रेई) : इतिहास में पहली बार मैक्सिको के काथलिक धर्माध्यक्षों ने संयुक्त राज्य अमेरिका और मेक्सिको के नेताओं और सभी नागरिकों को सभी प्रवासियों की गरिमा के सम्मान के लिए निर्देश जारी किया है।

मैक्सिको का कहना है कि वह अमेरिका/मेक्सिको सीमा पर राष्ट्रीय रक्षक सैनिक भेजने के राष्ट्रपति ट्रम्प के फैसले के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ सहयोग के सभी तंत्रों की समीक्षा करेंगे। एक संक्षिप्त बयान में मैक्सिकन सरकार ने कहा कि राष्ट्रपति एनरिक पेना नीत्तो ने रविवार को मंत्रिमंडल की बैठक में मंत्रालय को निर्देश दिया था कि वे समीक्षा को पूरा करें।

 मैक्सिकन काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन द्वारा अमेरिका/ मैक्सिको सीमा संकट की निंदा करते हुए जारी पत्र के बारे वाटिकन रेडियो के जेम्स ब्लेर ने रिपोर्ट किया है। उन्होंने कहा कि पत्र में कानून के पालन में मानवीय भावना को ध्यान में रखते हुए कार्यवाही करने को कहा गया है।

मैक्सिकन काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन द्वारा जारी पत्र इस तरह शुरू होता है: "अपनी गरिमा और अधिकारों के लिए घायल हुए हर प्रवासी के साथ, येसु मसीह को फिर से क्रूस पर चढ़ाया गया है!" प्रवासियों से निपटने के लिए बनाये गये नए कानूनों पर बहस जरुरी है: "मनुष्य की अतुलनीय गरिमा ही कानून का सही स्रोत है। प्रवासियों का क्रंदन हमारा क्रंदन है और  उनकी पीड़ा हमारी पीड़ा है।"

 मैक्सिकन काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन पहले की और वर्तमान मैक्सिकन सरकारों को पर्याप्त विकास के अवसर न बनाने हेतु दोषी ठहराते हुए इस बात पर भी जोर देती है कि "प्रवासी लोग अपराधी नहीं हैं, लेकिन  कमजोर और असुरक्षित लोग हैं उन्हें भी व्यक्तिगत और सामुदायिक विकास के पूर्ण अधिकार हैं। मैक्सिको और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच की सीमा युद्ध क्षेत्र नहीं है!"


(Margaret Sumita Minj)

11/04/2018 15:46