Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

लोकतंत्र कॉंगो में एक पुरोहित का अपहरण और रिहाई के लिए फिरौती की मांग

डीआरकोंगो के कार्डिनल लॉरेंट - AFP

04/04/2018 16:04

किशांसा, बुधवार 4 अप्रैल 2018 (रेई) : कांगो के लोकतांत्रिक गणराज्य के किशांसा स्थित कराम्बी पल्ली के पास रविवार को पास्का महापर्व का समारोह मनाने के बाद फादर सेलेस्टीन नैगोंगो को हमलावरों के एक समूह द्वारा अपहरण कर लिया गया।

 सेपाधो से प्राप्त सूचनानुसार, "अपने वाहन में कराम्बी से लौटने के दौरान फादर नैगोंगो को हमलावरों ने पकड़ा और जंगल में जाने के लिए उसे मजबूर किया और वे फादर की रिहाई के लिए फिरौती की मांग कर कहे हैं।”  

कांगो के राष्ट्रीय धर्माध्यक्षीय सम्मेलन (सेन्को) ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा कि फादर सेलेस्टीन नैगोंगो के अपहर्ताओं ने संत पौल कराम्बी पल्ली के साथ संपर्क कर फादर की रिहाई के लिए 500,000 अमेरिकी डॉलर के बराबर मांग की है।

फिरौती की रकम चुकाये जाने के बारे में अभी तक कलीसिया के अधिकारियों ने कुछ भी नहीं कहा है।

22 जनवरी को उत्तर किवो में, पांच कार्यकर्ताओं के साथ एक अन्य फादर रॉबर्ट मसिंडा का भी अपहरण किया गया था परंतु दो दिन बाद उन्हें छोड़ दिया गया था।

पिछले 23 वर्षों से तनाव ग्रस्त उत्तर और दक्षिण किवु प्रांत ने हाल ही में मिलिशिया समूहों के बीच हिंसा का विस्फोट देखा है, जो अक्सर नागरिकों को रुपये देने के लिए बाध्य करते हैं या खनिज संसाधनों के नियंत्रण के लिए एक दूसरे से लड़ते हैं।

अशेम्पशन धर्मसंघ को तीन सदस्यों, फादर जीन पियरे नदुलीनी, फादर एडमंड किसुघी और फादर एन्सलेम वासुकुंडी का अक्टूबर 2012 में और पिछले साल जुलाई में फादर जीन पियरे अकीलीमली और फादर चार्ल्स किपासा का अपहरण किया गया था। अपहरण के बाद से उनके बारे में किसी भी तरह की सूचना नहीं मिली है।


(Margaret Sumita Minj)

04/04/2018 16:04