Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

क्लारेशियन पुरोहित को राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार मिला

प्रतीकात्मक तस्वीर - AFP

02/04/2018 17:15

बेंगलुरु, सोमवार, 2 फरवरी 2018 (मैटर्स इंडिया) : क्लारेशियन फादर विनीत जोर्ज सीएमएफ ने 26 मार्च को छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और त्रिपुरा के पूर्व गवर्नर लेफ्टिनेंट जनरल के.एम. सेत पीवीएसएम के हाथों भारतीय इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली में 2018 का राष्ट्रीय गौरव पुरस्कार प्राप्त किया। फादर विनीत बेंगलुरु क्लारिशियन प्रोविंस के सदस्य हैं।

यह पुरस्कार उच्च शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठ उत्कृष्टता एवं उच्च नेतृत्व के उत्कृष्ट प्रदर्शन और समाज सेवा के लिए प्रमाण पत्र प्रदान की जाती है।

पुरस्कार न्यायपीठ में विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ जैसे अर्थशास्त्री, पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता, उद्योगपति, शिक्षाविद, शिल्पवैज्ञानिक, राजनेता और सेवानिवृत्त रक्षा अधिकारी शामिल थे। फादर विनीत इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के सबसे कम उम्र के प्राप्तकर्ताओं में से एक हैं।

इस पुरस्कार से मदर टेरेसा, जनरल के.वी. कृष्ण राव, उस्ताद अमजद अली खान, जीवीजी। कृष्णमूर्ति, न्यायमूर्ति पी.एन. भगवती, डॉ नरेश त्रेहान, और एयर चीफ मार्शल एन.सी. सूरी को भी नवाजा गया था।

इससे पहले भी, फादर विनीत ने एक छात्र के रूप में और एक पेशेवर के रूप में दोनों तरह के पुरस्कारों को हासिल किया है।

अपनी स्नातकोत्तर उपाधि के दौरान, फादर विनीत को विश्वविद्यालय के प्रथम स्थान प्राप्त करने के कारण प्रतिष्ठित डॉ सुब्बीरामी रेड्डी स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया। बाद में, पब्लिक रिलेशन्स प्रोफेशनल के रूप में अपने करियर के दौरान, उन्हें अपने प्रबंधकीय उत्कृष्टता की गवाही के रूप में इंडियन मैनेजमेंट एसोसिएशन के एक महानिदेशक के रूप में अपने महानिदेशक द्वारा शामिल किया गया था।

अपने केरियर की शुरुआत में ही फादर विनीत ने पुरोहित जीवन के बुलावे को स्वीकार करते हुए 2006 में क्लारिशियन धर्मसंघ में प्रवेश किया।

वर्तमान में वे बेंगलुरु के संत क्लारेट कॉलेज के उपाध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं, वे बिजनेस एथिक्स से लेकर सामरिक प्रबंधन के विविध विषयों पर लेक्चर देते हैं। वे सार्वजनिक संबंध और मानव संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता और अनुभव के लिए जाने जाते हैं। भिन्न विषयों पर उनके कई लेख विभिन्न राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए हैं। उनके लेख को अंतरराष्ट्रीय जनसंपर्क संघ, लंदन ने भी प्रशंसा की है।


(Margaret Sumita Minj)

02/04/2018 17:15