Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ एशिया की कलीसिया

पवित्र बृहस्तपतिवार को कार्डिनल ताग्ले प्रवासियों के पैर धोएंगे

पैर धोते हुए कार्डिनल ताग्ले - RV

28/03/2018 16:17

मनिला, बुधवार 28 मार्च 2018 (वीआर, रेई) : मनिला के महाधर्माध्यक्ष कार्डिनल लूईस अंतोनियो ताग्ले  पवित्र बृहस्तपतिवार की संध्या की धर्मविधि में शरणार्थियों और प्रवासियों के पैर धोएंगे। यह धर्मविधि येसु द्वारा अपने चेलों के पैर धोये जाने की यादगारी में की जाती है।

विश्वव्यापी कलीसिया के मानवतावादी सम्मेलन में अंतरराष्ट्रीय कारितास के अध्यक्ष कार्डिनल ताग्ले ने हाल ही में पास्का संदेश जारी किया है जिसमें उन्होंने दुनिया भर भले पुरुषों और महिलाओं को कारितास के  "यात्रा में सहभागी" नामक अभियान में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया है, जिसका लक्ष्य है: प्रवासियों तक पहुंचना, अपने पूर्वाग्रह से निपटने के लिए धारणाओं को बदलना और लोगों को उनके दिलों और दिमागों को खोलने में मदद करना।

कार्डिनल ताग्ले  मनिला महागिरजाघर में जिनके पैर धोयेंगे उनमें जोआना डेमाफेलिस के माता-पिता हैं, जोआना कुवैत में फ्रीजर में मारे गए थे। एक विदेशी काथलिक दम्पति जिन्होंने अपनी मातृभूमि में धार्मिक उत्पीड़न के कारण फिलीपींस में शरण लेने की मांग की थी।

यहां दो आदिवासी पर्यावरण शरणार्थी भी हैं, जो लकड़ी और खनन कंपनियों द्वारा बड़े पैमाने पर सैन्यकरण और विनाश के कारण अपना घर छोड़ दिया है। कार्डिनल ताग्ले फादर तेरेसितो सोगानुब के पैर भी धोयेंगे जिन्हें बंदूकधारियों ने मारावी में करीब 4 महीने तक बंधक बनाकर रखा था। पवित्र गुरुवार का अनुष्ठान भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह फिलीपिनो कलीसिया के पुरोहितों और धर्मसंघी पुरोहितों का वर्ष चिन्हित करता है।

फिलीपीन कलीसिया पीड़ित भाई बहनों की मदद हेतु खुली है

कार्डिनल ने कहा,"फिलीपीन कलीसिया के लिए यह एक नया मिशन है – हमारे ख्रीस्तीय उन भाईयों और बहनों का स्वागत करते हैं जो अपने देश में उत्पीड़न सहते हैं।"

सितंबर 2017 में फिलीपींस के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के प्रवासियों के मंत्रालय ने बताया कि वहां लगभग 30 शरणार्थी हैं,  अधिकांश पाकिस्तान से हैं, जिन्हें स्थानीय कलीसिया द्वारा उनकी जरुरतों को पूरी की जा रही है।

देश में करीब 600 शरणार्थी और प्रवासी भी हैं और उनमें से अधिकांश ईरान, सीरिया, पाकिस्तान और सोमालिया के हैं।

पिछले साल, कार्डिनल ताग्ले ने शराबियों, पुलिसकर्मी, सरकारी अधिकारी, स्वयंसेवकों और फिलीपींस में अतिरिक्त न्यायिक हत्याओं के पीड़ितों के रिश्तेदारों के पैरों को धोये थे।


(Margaret Sumita Minj)

28/03/2018 16:17