Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

अपने क्रूस से दूर न भागें, संत पापा फ्राँसिस

रोमानिया का एक विश्वासी हाथ में क्रूस लिये हुए - AP

28/03/2018 15:56

वाटिकन सिटी, बुधवार 28 मार्च 2018 (रेई) : हम चालिसे के पवित्र सप्ताह में हैं और काथलिक कलीसिया हमें प्रभु येसु के जीवन मृत्यु और पुनरुत्थान पर चिंतन करने हेतु विशेष अवसर प्रदान करती है।  पाप रुपी क्रूस हमें मृत्यु की ओर ले जाता है। येसु हमें इन पापों से मुक्त करने के लिए अपने उपर हमारा क्रूस ले लिया। वह अपने शरीर में हमारे पापों को क्रूस के काठ पर ले गये, जिससे हम पाप के लिए मृत होकर धार्मिकता के लिए जीयें।(1पेत्रुस 2,24) संत पापा फ्राँसिस ने टवीट प्रेषित कर अपने क्रूस को स्वीकारने की प्रेरणा दी।

संदेश में उन्होंने लिखा, “जो कोई अपने क्रूस से दूर भागता है, वह पुनरुत्थान से भी दूर हो जाता है।”

क्रूस के बिना हमारे पापों से क्षमा नहीं, मुक्ति नहीं। येसु अपने चेलों से कहते हैं, “जो मेरा अनुसरण करना चाहता है वह आत्मत्याग करे और अपना क्रूस उठकर मेरे पीछे हो ले, क्योंकि जो अपना जीवन स्रक्षित रखना चाहता है वह उसे खो देगा और जो मेरे कारण अपना जीवन खो देता है वह उसे सुरक्षित रखेगा।” (मत्ती,16,24)


(Margaret Sumita Minj)

28/03/2018 15:56