Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ मध्यपूर्व की कलीसिया

येरुसालेम में खजूर रविवार का समारोह

जैतुन पहाड़ से जुलुस करते हुए येरुसालेम के विश्वासी - REUTERS

26/03/2018 16:09

येरुसालेम, सोमवार 26 मार्च 2018 (रेई) : येरुसालेम के काथलिकों ने खजूर रविवार के प्रभु के दुखःभोग जुलुस में भाग लिया। प्रति वर्ष पूरे विश्व से हजारों की संख्या में काथलिक तीर्थयात्री स्थानीय कलीसिया के साथ पवित्र सप्ताह की धर्मविधि में भाग लेते हैं।

यह पवित्र सप्ताह खजूर रविवार के पूजन विधि से शुरु होता है जिसमें क्रूस पर चढ़ाने के एक हफ्ते पहले  येसु का हर्षोलास के साथ येरुसालेम शहर में प्रवेश करने का स्मरण करते हैं।

 धर्मविधि में धार्मिक जुलूस उसी पवित्र भूमि में किया जाता है जिस रास्ते से येसु ने यात्रा की थी। जुलूस जैतून के पर्वत पर बेथफेज के फ्रांसिस्कन गिरजाघर से शुरू होता है और येरूसालेम के पुराने शहर में संत अन्ना गिरजाघर में समाप्त होता है।

महाधर्माध्यक्ष पियरबाप्टिस्ट पिज्जाबाला ने जुलूस की अगुवाई की जो वर्तमान में येरूसालम के लैटिन धर्मप्रांत के लिए अपोस्टोलिक प्रशासक के रूप में सेवा दे रहे हैं। जुलुस के अंत में उन्होंने पवित्र ख्रीस्तयाग का अनुष्ठान किया। महाधर्माध्यक्ष ने उपस्थित भक्त समुदाय को संबोधित करते हुए कहा, “हमने उसी रास्ते में जुलुस किया है जिस रास्ते से होकर येसु शहर में प्रवेश किये थे और कोई भी पास्का की घटना द्वारा पूरी तरह से प्रकाशित हुए बिना येसु के येरुसालेम में प्रवेश की घटना को समझ नहीं सकता। आज, हम येसु के साथ पास्का में प्रवेश करते हैं।"

उन्होंने कहा,“पवित्र भूमि में खजूर रविवार को, ख्रीस्तीय न केवल येसु के लिए बल्कि येरुसालेम के लिए भी प्यार का समारोह मनाते हैं। दृढ़ निश्चय के साथ हम यह कहना और प्रचार करना चाहते हैं कि हम इस शहर का हिस्सा हैं, जहाँ हमारे विश्वास की उत्पत्ति हुई है और जो हमारे ख्रीस्तीय इतिहास को संरक्षित रखता है।"


(Margaret Sumita Minj)

26/03/2018 16:09