Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

वाटिकन \ घटनायें

संत पापा फ्राँसिस ने 'एकजुटता के वैश्वीकरण' के लिए पुकार लगायी

‘सांता मरिया इन त्रासतेवेरे गिरजाघर’ में संत इजीदियो समुदाय के सदस्यों को संदेश देते हुए संत पापा - AP

12/03/2018 15:16

रोम, सोमवार 12 मार्च 2018 ( वीआर,रेई) : संत पापा फ्राँसिस रविवार पूर्वाहन को रोम स्थित संत इजीदियो समुदाय के मुख्यालय का दौरा किया जहाँ संत इजीदियों समुदाय के सदस्य अपनी संस्था की स्थापना की 50वीं वर्षगाँठ मनाने के लिए देश विदेशों एकतत्रित हुए थे।

संत पापा ने ‘सांता मरिया इन त्रासतेवेरे गिरजाघर’ में संस्था के संस्थापक अंद्रेया और अन्य सदस्यों से मुलाकात की। संत पापा ने उन्हें अपने मिशन को जारी रखने हेतु बढ़ावा दिया। इजीदियो समुदाय गरीब बच्चों, अनाथों, बीमारों, बुजुर्गों, आवासहीनों, प्रवासियों शरणार्थियों की मदद करती और विभिन्न समुदायों के बीच शांति और अंतरधार्मिक वार्ता में विशेष योगदान देती है। यह वर्तमान में मध्य अफ्रीकी गणराज्य में शांति लाने हेतु मध्यस्थ बनी हुई है।

संत पापा ने सांता मरिया इन त्रासतेवेरे गिरजाघर’ में प्रार्थना सभा के दौरान संत इजीदियो समुदाय के सदस्यों और स्वयं सेवकों को उनके मिशन के लिए धन्यवाद दिया। संत पापा ने कहा कि यह गिरजाघर में पवित्र मिस्सा समारोह के अलावा कई बेघर लोगों को शरण देता है और क्रिसमस में गरीब लोगों को यहाँ भोजन परोसा जाता है।

गरीब,प्रार्थना,शांति

संत पापा ने कहा कि इजीदियो समुदाय गरीबों के लिए, शांति के लिए और प्रार्थना, इन तीन बिन्दुओं पर केंद्रित है। उन्होंने समुदाय के सदस्यों को वर्तमान में जिम्मेदारी की भावना के साथ भविष्य को सकारात्मक देखने के लिए शुक्रिया अदा किया कि उन्होंने "वैश्वीकरण के विशाल आयाम को वर्तमान समय का भय बताया : ऐसा भय जो अक्सर अजनबी पर केंद्रित होते हैं,  वे जो दूसरों से अलग है, गरीब ... जैसे कि वे दुश्मन हैं।"

मानवीय गलियारे

संत पापा फ्राँसिस ने इजीदियो समुदाय के सदस्यों को शामति के लिए प्रार्थना और शांति स्थापना हेतु उनके योगदान के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने सीरिया के लोगों की दुर्दशा को उजागर किया, जिनमें से कुछ परिवार सुरक्षित रूप से यूरोप लाए गए हैं संत पापा ने 'मानवतावादी गलियारों' के लिए धन्यवाद दिया जिसे समुदाय ने अन्य विश्वास-आधारित संगठनों के सहयोग से संगठित किया है।

एकता का वैश्वीकरण

इस तथ्य पर ध्यान देते हुए कि विश्व का एकमात्र टिकाऊ भविष्य जहां लोग शांति के साथ एक साथ रह सकते हैं, संत पापा ने संत समुदाय को 'एकजुटता और एकात्मक्ता के वैश्वीकरण' को बढ़ावा देने तथा खुले वाद-विवाद और वार्ता को समर्थन देते हुए पुलों के निर्माण में सहायता जारी रखने को लिए प्रोत्साहित किया।

उन्होंने समुदाय द्वारा चलाये जा रहे शांति के स्कूल की प्रशंसा करते हुए कहा कि आज विश्व के अनेक देशों में युद्ध चल रहे हैं ऐसे युद्ध प्रभावित क्षेत्रों में भी बड़े साहस के साथ संत इजीदियो समुदाय वहाँ के बच्चों के लिए ‘शांति का स्कूल’ खोला है, समाज से परित्यक्त बुजुर्गों की देखभाल करते हैं।  आप युद्घ और भूख के कारण अपना देश छोड़े वालों के लिए मानवीय गलियारों को खोलना जारी रखें।


(Margaret Sumita Minj)

12/03/2018 15:16