Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ एशिया

ढाका: काथलिक व्यवसायी महिला को सर्वश्रेष्ठ जूट उत्पादों के लिए मिला पुरस्कार

बांग्लादेश की आदिवासी महिलाएँ - AP

09/03/2018 15:09

ढाका, शुक्रवार,9 मार्च 2018 (एशिया न्यूज) : बांग्लादेश में एक काथलिक व्यवसायिक महिला बेर्था गीत बारोई को सर्वश्रेष्ठ जूट उत्पादन के लिए पुरस्कार मिला। उनके सात दस अन्य व्यवसायिक अधिकारियों को भी पुरस्कार प्राप्त हुआ।

बांलादेश की प्रधान मंत्री श्रीमति शेख हसीना ने उन्हें पुरस्कार से सम्मानित किया। उन्होंने पुरस्कार विजेताओं को स्थानीय सामग्री का उपयोग करने के लिए उनका धन्यवाद दिया। बांग्लादेश में, जूट को देश का 'गोल्डन फाइबर' कहा जाता है। प्रधान मंत्री ने कहा, "जूट बांग्लादेश की बहुमूल्य संपत्तियों में से एक है," यह एक विशाल क्षमता के साथ "विभिन्न प्रकार के निर्यात योग्य सामान प्रदान करता है।"

ढाका में राष्ट्रीय जूट दिवस पर इस साल के विविध जूट मेले में पुरस्कार समारोह आयोजित किया गया। तीन दिन के जूट मेले में जूट से जुड़ी सभी चीजों का प्रदर्शन किया, जिसमें जूट के पौधे की खेती से लेकर जूट से जुड़े अनुसंधान का प्रदर्शन था साथ ही जूट उत्पादन सामग्रियों की बिक्री की व्यवस्था भी की गई थी।

कारितास जूट वर्कस(सीजेड्ब्यू) की निद्शक बेर्था गीत बारोइ ने एशियान्यूज से अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा, "मैं इस मान्यता के लिए बहुत खुश हूं यह मुझे और हमारे सहकर्मियों को प्रेरित करेगा। "वे करीब 50 विकसित देशों के साथ सीजेडब्ल्यू उत्पादनों का निर्यात करती हैं। इस संस्था में 6000 से ज्यादा महिलाएँ काम करती हैं जिन्में ज्यादातर मुस्लिम और हिन्दु महिलाएँ हैं।

सीजेडब्ल्यू की स्थापना 1 971 में ख्रीस्तीय संगठन राहत और पुनर्वास (सीओआरआर) ने की, जो बाद में कारितास बांग्लादेश बन गया।

इसका उद्देश्य देश की आजादी के युद्ध के बाद विधवाओं और पीड़ितों के साथ-साथ गरीब ग्रामीण महिलाओं की सहायता करना था।


(Margaret Sumita Minj)

09/03/2018 15:09