Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

विशाखापटनम के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष का निधन

प्रतीकात्मक तस्वीर - REUTERS

27/02/2018 16:11

बेंगलूरू, मंगलवार, 27 फरवरी 2018 (मैटर्स इंडिया): विशाखापटनम के सेवानिवृत महाधर्माध्यक्ष काजिथापू मारियादास का निधन 26 फरवरी को हुआ। वे 81 वर्ष के थे और कुछ समय से बीमार चल रहे थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार उनका अंतिम संस्कार 28 फरवरी को पूर्वाह्न 10.00 बजे, विशाखापटनम के संत पेत्रुस महागिरजाघर में किया जाएगा।

महाधर्माध्यक्ष का निधन रात के लगभग 2.30 बजे विशाखापटनम के संत जोसेफ अस्पताल में हुआ जहाँ वे एक माह पहले चिकित्सा हेतु भर्ती थे।

महाधर्माध्यक्ष काजिथापू का जन्म 7 सितम्बर 1936 को गणनापुरम में हुआ था। उनका पुरोहिताभिषेक सन् 1961 को संत फ्राँसिस दी सेल्स धर्मसमाज के मिशनरी के रूप में हुआ था।

संत पापा पौल षष्ठम ने उन्हें 1974 में गुनटूर के चौथे धर्माध्यक्ष नियुक्त किया था। सन् 1982 में उनकी नियुक्ति विशाखापटनम में हुई थी। 2001 में जब धर्मप्रांत को महाधर्मप्रांत का दर्जा मिला तब वे वहाँ के महाधर्माध्यक्ष नियुक्त किये गये थे।

धर्माध्यक्ष बनने के पूर्व वे बैंगलोर स्थित संत पीटर सेमिनरी के प्रोफेसर भी रहे।

3 जुलाई 2012 को संत पापा बेनेडिक्ट सोलहवें ने उनका त्याग पत्र स्वीकार किया। वे 56 सालों तक पुरोहित रहे तथा 40 सालों तक धर्माध्यक्ष। पिछले पांच वर्षों से वे विशाखापटनम के जयंती गृह में रह रहे थे।


(Usha Tirkey)

27/02/2018 16:11