Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

ब्राजील में भाईचारे अभियान हेतु संत पापा का संदेश

संत पापा ब्राजील में अपनी प्रेरितिक यात्रा में अमाजोन के आदिवासियों से मुलाकात करते हुए - AFP

14/02/2018 16:10

वाटिकन सिटी, बुधवार, 14 फरवरी 2018 (रेई) : ब्राजील में आज राख बुधवार के दिन दक्षिण अमरीकी देश (सीएनबीबी) के धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने ″ परंपरागत भाईचारे का अभियान 2018″ का आयोजन किया है। इस सममेलन की विषय-वस्तु है,"भाईचारा और हिंसा पर काबू पाना"  और इसका आदर्श वाक्य है, "आप सब के सब भाई हैं।"(मत्ती 23,8)

इस अवसर पर संत पापा ने ब्राजील की कलीसिया के लिए संदेश भेजा। संदेश में उन्होंने चालिसा काल में,  हिंसा से उबरने के लिए क्रोद्ध को वश में करने हेतु प्रोत्साहित किया। संत पापा फ्राँसिस यह मानते हैं कि  माफ करना "कभी-कभी" बहुत "मुश्किल" होता है, लेकिन वे आग्रह करते है कि "गुस्सा, क्रोध और बदले की भावना को छोड़ दें", क्योंकि ये सभी हिंसा को दूर करने की आवश्यक शर्तें हैं।

ईश्वर का प्रेम सभी क्षेत्रों और अभिव्यक्तियों में दिखाई देता है।

संत पापा ने कहा कि ईश्वर का प्रेम हमारे बीच, हमारे परिवारों, हमारे समुदायों और समाज में तब दृश्यमान होता है जब हम अपने क्रोद्ध पर काबू पाते हुए हिंसा को रोकते हैं और हम शांति के संदेशवाहक बनते हैं। समाज में सभी लोगों के समग्र विकास का फल शांति है। यह प्रकृति के सभी प्राणियों के साथ नये संबंध स्थापित करने से आता है। दिन प्रति दिन धैर्य और दया के साथ, परिवारों और समुदायों की गतिविधियों में प्रेमपूर्ण संबंध बनाने से शांति स्थापित की जाती है। दैनिक जीवन में छोटी-छोटी बातों में जैसे एक-दूसरे का सम्मान करना, दूसरे की बातों को सुनना, मौन रहना और एक दूसरे को स्वीकार करने से भाईचारे को विकसित करने के लिए उपयुक्त वातावरण मिलता है।

मसीह में एक ही परिवार-

संत पापा ने कहा कि प्रभु येसु मसीह में हम एक परिवार बनाते हैं। मसीह चाहते हैं कि हम सभी परिपूर्ण जीवन प्रात करें (योहन10,10) मसीह द्वारा क्रूस पर बहाये रक्त में हमारा जन्म और हमारा उद्धार हुआ है। संत पापा आशा करते हैं कि अपारसिदा की माता मरियम की धत्रछाया में ब्राजील की कलीसिया "हिंसा के बिना सह-अस्तित्व के लिए मनपरिवर्तन और मुक्ति के दिन" की घोषणा कर सके।

अंत में संत पापा ने ब्राजील के धर्माध्यक्षों और लोगों को चालीसा काल की आशामय और फलदायी यात्रा की शुभकामनाएँ दी और उन्हें अपारसिदा की माता मरियम के संरक्षण में रखते हुए अपना प्रेरितिक आशीर्वाद दिया।


(Margaret Sumita Minj)

14/02/2018 16:10