Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

मानव की सेवा ईश्वर की सेवा है,संत पापा फ्राँसिस

अफ्रीका के बाल सैनिक - ANSA

12/02/2018 15:45

वाटिकन सिटी, सोमवार 12 फरवरी 2018 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने रविवार को विश्व रोगी दिवस के अवसर पर सभी लोगों को अपनी बीमारियों से जूझते हुए बीमार लोगों के प्रति सम्मान और प्रेम प्रकट करने प्रेरणा दी। संत पापा ने लूर्द की माता मरियम की मध्यस्ता से सभी बीमारों के लिए प्रार्थना की कि वे "शरीर और आत्मा में आराम प्राप्त कर सकें। रविवार को संत पापा ने दो ट्वीट प्रेषित किया।

उन्होंने पहले संदेश में लिखा, "बीमार लोग हमेशा अपनी बीमारी की नाजुक स्थिति में प्यार, आदर और अलंधनीय सम्मान पायें।"

और दूसरे संदेश में उन्होंने लिखा,"मानव की सेवा ईश्वर की सेवा है जीवन के हर चरण : माता के गर्भ से लेकर, दुख और बुढ़ापे की बीमारी में मानव जीवन की सेवा करनी है।

संत पापा फ्राँसिस ने सोमवार 12 फरवरी को बाल सैनिकों के उपयोग के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर ऐसे बच्चों के लिए अपने दुख को प्रकट किया जो खिलौनों के बदले बंदूको से खेलने के लिए बलपूर्वक मजबूर किये जाते हैं।

अपने संदेश में संत पापा ने लिखा," मुझे उन बच्चों के लिए गहरा दुख होता है जिन्हें अपने परिवारों से भगाकर बाल सैनिक बनने के लिए मजबूर किया जाता है। यह एक त्रासदी है!"  


(Margaret Sumita Minj)

12/02/2018 15:45