Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

सीबीसीआई के लिए नई समिति का गठन

कार्डिनल ग्रेशियस सीबीसीआई के नये अध्यक्ष चुने गये

08/02/2018 17:12

बेंगलूरू, बृहस्पतिवार, 8 फरवरी 18 (सीबीसीआई): भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन ने 8 फरवरी को अगले दो वर्षों के लिए नई समिति का चुनाव किया।  

भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव धर्माध्यक्ष थेओदोर मसकरेनहास एस. एफ. एक्स. ने 8 फरवरी को एक विज्ञाप्ति जारी कर कहा, "हम यह घोषित करते हुए प्रसन्न हैं कि कार्डिनल ओस्वाल्ड ग्रेशियस, बॉम्बे के महाधर्माध्यक्ष, दो सालों की अवधि के लिए भारत के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के नए अध्यक्ष चुने गए हैं।

माननीय जोशुआ मार इग्नाथिओस, मावेलिकारा के धर्माध्यक्ष, दो वर्षों के लिए भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के प्रथम उपाध्यक्ष चुने गये हैं।

माननीय जोर्ज नजारालाकात, तेल्लीचेर्री के महाधर्माध्यक्ष, दो वर्षों की अवधि के लिए भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के द्वितीय उपाध्यक्ष चयनित हुए हैं।

जबकि अगले दो सालों के लिए भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के महासचिव का कार्यभार माननीय धर्माध्यक्ष थेओदोर मसकरेनहास एस.एफ.एक्स ही संभालेंगे।

विज्ञाप्ति में कहा गया है कि सीबीसीआई की परंपरा के अनुसार, कार्यालय-पदाधिकारियों को रीतियों के बीच चक्रानुक्रम के आधार पर चुना गया है।

सीबीसीआई के पुराने कार्यालय-पदाधिकारी जो समिति से बाहर जा रहे हैं, वे हैं कार्डिनल बेसलियोस क्लेमिस, सीबीसीआई के पूर्व अध्यक्ष, महाधर्माध्यक्ष अंद्रेयुस थाज़हाथ, प्रथम उपाध्यक्ष और महाधर्माध्यक्ष फिलिप नेरी फेर्राओ, द्वितीय उपाध्यक्ष। उन्होंने दो साल की कार्यविधि पूरी की है जिसके कारण वे अपने पदों पर बनें नहीं रह सकते।

विज्ञाप्ति में सीबीसीआई के महासचिव ने उन्हें भारत की काथलिक कलीसिया की ओर से उनकी सेवाओं के लिए आभार प्रकट किया है तथा सीबीसीआई के नये कार्यालय-पदाधिकारियों के लिए प्रार्थना की है कि वे भारत की कलीसिया को, भारत की सेवा एवं साक्ष्य के मिशन में उसका नेतृत्व कर सकें।

सीबीसीआई के नये कार्यालय-पदाधिकारियों का चुनाव भारतीय काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन की 33वीं आमसभा में 8 फरवरी को हुआ।  


(Usha Tirkey)

08/02/2018 17:12