Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

वाटिकन \ घटनायें

"मैं प्यार और भलाई से घिरा अपने घर की तीर्थयात्रा पर हूँ," संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें

सेवानिवृत संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें - ANSA

07/02/2018 15:34

वाटिकन सिटी, बुधवार 7 फरवरी 2018 (रेई) : सेवानिवृत संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें ने ‘कोरियेरे देला सेरा के कई पाठकों को उत्तर दिया, जिन्होंने रोमन कार्यालय द्वारा भेजे हाथ से लिखे गये पत्र में उनके स्वास्थ्य के बारे पूछा था। उन्होंने लिखा कि वे "शारीरिक शक्तियाँ धीमी गति से कम" और स्नेह की कृपा से घिरे हुए महसूस करते हैं।"

मातेर एक्लेसिया मठ से कल सुबह, कोरियेरे देला सेरा के रोमन मुख्यालय में मैसिनो फ्रैंको को संबोधित, "हाथ से तत्काल" पत्र पहुंचा।  सेवानिवृत्त होने के बाद संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें पांच साल से वेटिकन के अंदर मातेर एक्लेसिया मठ में रहते हैं।

संत पापा ने लिखा," प्रिय डॉ फ्रांको, मुझे पता चला है कि आपके अखबार के कई पाठक यह जानना चाहते हैं कि मैं अपने जीवन का आखिरी समय कैसे बिता रहा हूँ। इस संबंध में मैं केवल यह कह सकता हूँ कि, शारीरिक शक्तियाँ धीरे से कम हो रही हैं और आंतरिक रूप से मैं स्थायी घर की तीर्थयात्रा पर हूँ।

मैं प्रभु के प्रेम और भलाई से इस तरह घिरा हुआ हूँ कि मैं कल्पना नहीं कर सकता। यात्रा के इस अंतिम भाग में कभी-कभी थोड़ा थकान महसूस करता हूँ। इस मायने में, मैं अपने पाठकों के प्रश्न को यात्रा के लिए एक सहयोगी के रूप में भी मानता हूँ।

अंत में संत पापा बेनेदिक्त सोलहवें लिखते हैं, "यही कारण है कि मैं धन्यवाद देने के अलावे और कुछ भी नहीं कर सकता हूँ। आप सभी को मेरी प्रार्थनाओं का आश्वासन देता हूँ।"


(Margaret Sumita Minj)

07/02/2018 15:34