Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

संत पापा की विश्वव्यापी प्रार्थना नेटवर्क अब 'नवीनीकरण' की प्रक्रिया में है

संत पापा फ्राँसिस - RV

05/02/2018 16:16

वाटिकन रेडियो, सोमवार 5 फरवरी 2018 (वीआर) : फादर जगदीश परमार येसु समाजी ने संत पापा के विश्वव्यापी प्रार्थना नेटवर्क (पीडब्लूपीएन) और यूखारिस्तीय युवा आंदोलन (ईवायएम) के बारे में बताया।

संत पापा के विश्वव्यापी प्रार्थना नेटवर्क (पीडब्लूपीएन) और यूखारिस्टिक युवा आंदोलन (ईवायएम) के महादेशीय संयोजकों का एक सम्मेलन 23 से 30 जनवरी तक जेसुइट कुरिया, रोम में आयोजित किया गया था। भारत में येसु समाजी मिशन के दार्जिलिंग प्रांत से आये येसु समाजी फादर जगदीश परमार जो राष्ट्रीय निदेशक और दक्षिण एशियाई समन्वयक हैं, ने एसोसिएशन के बारे में वेटिकन रेडियो संवाददाता सिस्टर कार्मेल आन से बातें की।

"सन् 1844 में फ़्रांस में मिशन के लिए काम करने हेतु युवा सेमिनारियों की उत्सुकता प्रेरिताई प्रार्थना की शुरुआत हुई थी, बाद में 1896 में संत पापा लियो तेरहवीं ने इसे स्वयं से जोड़ा लेकिन उसे येसु समाजियों को सौंपा।"

तब से यह संत पापा की विश्वव्यापी प्रार्थना संध बन गई है। फिर 1929 से संत पापा ने मासिक प्रार्थना में दो निवेदन प्रस्तावित किया, विशेष रूप से एक कलीसिया के मिशनरी कार्य से संबंधित निवेदन प्रार्थना थी। जनवरी 2017 से संत पापा फ्राँसिस ने इसे फिर से प्रति माह एक निवेदन बनाया जो हर महीने की शुरुआत में अपने वीडियो संदेश के माध्यम से जारी किया जाता है।

फादर जगदीश ने बताया विश्वव्यापी प्रार्थना नेटवर्क (पीडब्लूपीएन) और यूखारिस्टिक युवा आंदोलन (ईवायएम) के महादेशीय संयोजको के सम्मेलन उद्देश्य पवित्र आत्मा के साहचर्य से प्रार्थना और चिंतनकर विश्वव्यापी प्रार्थना में नवीनीकरण लाना था जिससे संत पापा का प्रार्थना निवेदन हर काथलिक और हर काथलिक परिवार के लिए प्रासांगिक बन सके।  


(Margaret Sumita Minj)

05/02/2018 16:16