Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

वेनेजुएला धर्माध्यक्षों ने लोगों के सम्मान की मांग की

संत पापा फ्राँसिस और वेनेजुएला के धर्माध्यक्ष - AP

31/01/2018 15:40

वाटिकन रेडियो, बुधवार 31 जनवरी 2018 (वीआर,रेई) : वेनेजुएला के धर्माध्यक्षों ने राष्ट्रपति निकोलस मादुरो के सरकार की निंदा की है। उन्होंने इसे एक अधिनायकवादी प्रणाली कहा है जिसका उद्देश्य अपने लोगों को दबाने और अनिश्चित काल तक सत्ता में बने रहना है।

धार्मिक सूचना सेवा (एसआईआर) के साथ एक साक्षात्कार में वेनेजुएला  काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष ने कहा," भ्रष्ट और निरंकुश सरकार के सामने "हम लोगों की जरूरतों के प्रति सम्मान की मांग करते हैं।"

बैरिनास के धर्माध्यक्ष कास्टोर ओस्वाल्दो एज़ुएह पेरेज़ ने वेनेजुएला के नेताओं की राजनीतिक स्थिति की निंदा की है वे सरकार और सैन्य शक्तियों को भ्रष्ट व्यापारियों के रूप में वर्णित करते हैं।

उन्होंने बताया कि धर्माध्यक्षों ने बार-बार भूख और कुपोषण के प्रति अपनी चिंता व्यक्त की है जो देश की बड़ी आबादी को प्रभावित किया है और इससे बच्चों और वयस्कों की गंभीर स्वास्थ्य स्थिति में कमी आई है, साथ ही 2 मिलियन से अधिक युवा लोगों का पलायन हुआ है। देश में लगातार मानव अधिकार उल्लंघन और एक सामान्य लोकतंत्र की कमी है।

धर्माध्यक्ष ओस्वाल्दो ने कहा "हम तत्काल स्वास्थ्य देखभाल की कमी के मुद्दों से निपटने के लिए सरकार से अपील करते हैं और हम एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया की मांग करते हैं जिसमें सभी नागरिकों की भागीदारी रहती है।" उन्होंने कहा,"हमारा काम, लोगों के जीवन की रक्षा करना है। हम इसे सरकार और विपक्षी दलों दोनों के लिए लगातार दोहराते हैं।"

धर्माध्यक्ष ओस्वाल्दो ने इस तथ्य पर प्रकाश डाला कि देश में लोकतंत्र की कमी और मानवतावादी आपातकाल से उत्पन्न होने वाली गंभीर और नाजुक स्थिति को समाप्त करने के लिए कलीसिया "हमेशा वार्तालाप के लिए खुली है।"


(Margaret Sumita Minj)

31/01/2018 15:40