Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ विश्व की कलीसिया

संत पापा ने ईश्वर से दया की याचना की

नाजी नजरबंद शिविर में विश्व आहुति दिवस पर मौत के शिकार लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करता एक व्यक्ति - AP

27/01/2018 12:43

वाटिकन सिटी, शनिवार, 27 जनवरी 2018 (रेई): बाईबिल के माध्यम से हम जानते हैं कि ईश्वर ने मानव को अपने प्रतिरूप बनाया। उन्होंने उसे सृष्टि में सर्वश्रेष्ठ प्राणी बनाया ताकि वह उनके आनन्द का सहभागी बन सके किन्तु मनुष्य ने ईश्वर का विरोध किया। उनकी आज्ञा नहीं मानी एवं हिंसा तथा विनाश का पथ अपनाना। मानव के इसी क्रूरता का एक ठोस उदाहरण है नाजी नजरबंद शिविर, जहाँ लाखों लोगों को मौत को गले लगाना पड़ा था। इसी की याद में आज विश्व आहूति दिवस मनायी जाती है। 

संत पापा ने मानव के इसी क्रूर कृत्य के लिए ईश्वर से क्षमा याचना की एवं उनसे दया की गुहार लगायी। उन्होंने ट्वीट में लिखा, "प्रभु, आपके प्रतिरूप एवं छवि को मानव ने जो रूप दिया है उसके लिए हम लज्जित हैं। हमें अपनी दया में याद कर।"

संयुक्त राष्ट्र ने 27 जनवरी को विश्व आहुति दिवस घोषित किया है जो मानव की क्रूरता के कारण आहूति की अत्यन्त दुखद इतिहास की याद दिलाता है एवं शिक्षा के माध्यम से उसे समझाने का प्रयास करता है ताकि भविष्य में फिर कभी इस तरह की घटना न हो। 


(Usha Tirkey)

27/01/2018 12:43