Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ प्रेरितिक यात्रा

नारी हत्या लातीनी अमरीका का अभिशाप है जिसे रोका जाना चाहिये, सन्त पापा

त्रुहिल्लो में मरियम समारोह के लिये सन्त पापा फ्राँसिस का आगमन, 20.01.2018 - EPA

21/01/2018 11:05

त्रुहिल्लो, रविवार, 21 जनवरी 2018 (रेई, वाटिकन रेडियो): पेरु के त्रुहिल्लो नगर में मरियम के आदर में सम्पन्न प्रार्थना समारोह के दौरान सन्त पापा फ्राँसिस ने नारी हत्या एवं अन्य लिंग आधारित अपराधों की कड़ी निन्दा की जिसने लातीनी अमरीका को महिलाओं के लिये सर्वाधिक हिंसक जगह बना दिया है।

सन्त पापा ने कहा कि महिलाएं, माताएँ एवं नानियाँ और दादियाँ परिवारों की मार्गदर्शक शक्ति हैं किन्तु इसके बावजूद अमरीकी देशों में वे हत्याओं एवं विविध प्रकार की हिंसा का शिकार बनाई जाती हैं। विधि निर्माताओं का सन्त पापा ने आह्वान किया कि वे महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्चित्त कर एक नयी संस्कृति की बहाली करें।

लातीनी अमरीकी देशों में हालांकि अधिकाधिक देश नारी हत्या एवं महिलाओं के विरुद्ध हिंसा को समाप्त करने के लिये उपाय कर रहे हैं तथापि, नवम्बर 2017 में प्रकाशित संयुक्त राष्ट्र संघीय रिपोर्ट के अनुसार नारी हत्याओं में अपेक्षाकृत वृद्धि देखी गई है तथा पाँच प्रकरणों में कम से कम दो घरेलू हिंसा का परिणाम हुआ करते हैं।

मरियम के आदर में सम्पन्न प्रार्थना समारोह के दौरान प्रवचन करते हुए सन्त पापा ने महिलाओं की तस्करी, यौन शोषण तथा बलात वेश्यावृत्ति की कड़ी निन्दा की। उन्होंने कहा कि यह गहन दुःख का विषय है कि महिलाओं का अवमूल्यन किया जाता उन्हें वंचित छोड़ दिया जाता तथा अंतहीन हिंसा का शिकार बनाया जाता है। उन्होंने कहा, "समाज में महिलाओं की अग्रणी भूमिका के प्रति अऩ्धी पुरुष प्रधान संस्कृति से उत्पन्न होनेवाली महिलाओं के विरुद्ध हिंसा को सामान्य नहीं माना जा सकता। यह सरासर ग़लत है कि हम अपना मुँह दूसरी ओर फेर लें तथा इतनी अधिक युवा महिलाओं की प्रतिष्ठा को रौंदता हुआ देखते रहें।"

पेरु द्वारा प्रकाशित सरकारी आँकड़ों के अनुसार सन् 2009 से विगत अक्टूबर माह तक एक हज़ार से अधिक महिलाओं की मृत्यु लिंग आधारित हिंसा के कारण हो गई थी। अधिकांश महिलाएँ अपने पति अथवा साथी की हिंसा का शिकार बनी थीं। 


(Juliet Genevive Christopher)

21/01/2018 11:05