Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ एशिया की कलीसिया

गैर-सरकारी ईसाई संगठन ने ग्रामीणों को स्कूल सौंपा

नेपाल के विद्यार्थी, एक प्रतीकात्मक तस्वीर - AFP

12/01/2018 11:09

नेपाल, शुक्रवार, 12 जनवरी 2018 (मैटर्स इंडिया): डॉन बॉस्को धर्मसमाज द्वारा नेपाल के लोगों की सेवा में 25 साल पूरे हो चुके हैं। इस अवसर को मनाने हेतु उन्होंने गाँव वालों को स्कूल घर सौंपा।

नेपाल में 2015 के भूकंप से प्रभावित दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्रों में कुल दस स्कूल तैयार हो चुके हैं जिन्हें सौंपा जाना है।

उद्घाटन समारोह का आयोजन 11 जनवरी को काठमांडू से करीब 90 किलोमीटर पूर्व मध्य नेपाल के सिंधुप्पलचक्क जिले के कालेरी बेसिक स्कूल में किया गया था।

विधान सभा के स्थानीय सदस्य युवराज दुलाल, स्कूल के अध्यक्ष प्रदीप प्रसाद गोपाल, प्रधानाध्यपक युवानाथथ डुंगल और जिला प्रशासन के अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने समारोह में भाग लिया था।

स्कूल की इमारत के उद्घाटन में समर्पण पट्टिका का अनावरण किया गया तथा छह कक्षाओं की छः कुंजियों को प्रधानाध्यापक को सौंप दिया गया।

बदले में, स्कूल और स्थानीय अधिकारियों ने विधायक, स्कूल के अध्यक्ष और हेडमाटर द्वारा हस्ताक्षर किए गए प्रशंसा पत्र को पढ़ाकर सुनाया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि विधायक ने फ्रेम किये हुए पत्र के साथ डॉन बॉस्को स्कूल के रेक्टर फादर अब्राहम कान्नाट्टू को एक शॉल के साथ सम्मानित किया।

वर्तमान में इस प्राथमिक विद्यालय में कुल 85 विद्यार्थी पढ़ रहे हैं।

डॉन बॉस्को सोसाईटी के फादर अगुस्ती  पुलिकल ने उपस्थित लोगों को बतलाया कि "हम आशा कर रहे हैं कि अगले अकादमिक वर्ष में विद्यार्थियों की संख्या बढ़कर 105 हो जायेगी।"   

नेपाल में डॉन बॉस्को सोसाईटी का आगमन 1992 में, पूर्वी नेपाल में धरम केंद्र की स्थापना के साथ हुआ था।

नेपाल में डॉन बोस्को सोसाईटी खास रूप से युवाओं की प्रेरिताई में संलग्न हैं। वे दो तकनीकी स्कूल, चार अकादमिक स्कूल, तीन सामाजिक सेवा केंद्र, चार छात्रावास एवं कई अनौपचारिक केंद्रों का संचालन करते हैं।

वे विद्यार्थियों को छात्रवृति तथा आपातकालीन प्रतिक्रिया परियोजनाएँ जैसे कई सामाजिक कार्यक्रमों के द्वारा भी अपना सहयोग दे रहे हैं।


(Usha Tirkey)

12/01/2018 11:09