Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

येसु के पवित्रतम नाम में शांति संभव है, संत पापा फ्राँसिस

बालक येसु की प्रतिमा को चूमते हुए संत पापा फ्राँसिस - AFP

03/01/2018 15:36

वाटिकन सिटी, बुधवार 3 जनवरी 2018 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने बुधवार 3 जनवरी को ट्वीट प्रेषित कर ख्रीस्त-जयंती काल में शांति का राजकुमार येसु के पवित्रतम नाम की उद्घोषणा की। वे इस दुनिया में आये ताकि वे हम सबों को पिता ईश्वर के प्रेम क्षमा शांति का अनुभव करा सकें जिससे कि हम भी उसके पदचिन्हों पर चल कर उनका साक्ष्य दे सकें।

संदेश में उन्होंने लिखा,″हम यह साबित कर सकते हैं कि येसु के पवित्रतम नाम में शांति संभव है और हम इसके गवाह हैं।″

बालक येसु के जन्म के बाद एक स्वर्गदूत ने चरवाहों को जन्म को संदेश दिया और एकाएक उस स्वर्गदूत के साथ स्वर्गीय सेना का समूह दिखाई दिया, जो यह कहते हुए ईश्वर की स्तूति करता था, ″सर्वोच स्वर्ग में ईश्वर की महिमा प्रकट हो और पृथ्वी पर उसके कृपापात्रों को शांति मिले।″ (लूकस 2.13-14)


(Margaret Sumita Minj)

03/01/2018 15:36