Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

मदर तेरेसा की स्मृति में एनजीओ ने बच्चों और ड्रगसेवकों के साथ क्रिसमस मनाया

प्रतीकात्मक तस्वीर - AP

03/01/2018 14:54

मुम्बई, बुधवार 3 जनवरी 2018 (एशियान्यूज) : मुंबई स्थित कृपा फाउंडेशन ने 27 दिसंबर को वसई में 700 से अधिक अनाथ बच्चों, एड्स के रोगियों और नशीली दवाओं का सेवन करने वाले बच्चों के साथ क्रिसमस मनाया।

एनजीओ करीब 37 वर्षों से एचआईवी-एड्स और नशीली दवाओं से पीड़ित लोगों के इलाज कर रही है। आसके संस्थापक फादर जो पेरेरिया ने एशियान्यूज को बताया कि परंपरा के मुताबिक, "क्रिसमस पार्टी का आयोजन वसई में हुआ।" इसकी शुरुआत 1994 में हुई, तब से लगातार चलती आ रही है। यह जश्न "विशेषकर स्थानीय सुविधाओं (महाराष्ट्र) से वंचित बच्चों के लिए, उनमें से कई सड़क में जीने वाले एचआईवी या अनाथ बच्चो के लिए रखी जाती है।"  

फादर जो के लिए 2017 का क्रिसमस पार्टी महत्वपूर्ण था उन्होंने अपनी पुरोहिताई का 50वीं वर्षगाँठ और 75वाँ जन्मदिन का जश्न मनाया। उन्होंने कहा, “संत मदर तेरेसा के आशीर्वाद से गरीब और हाशिये पर जीवन यापन करने वालों की सेवा में मैं अभी भी अपने को जवान और सबल महसूस करता हूँ।"

मुम्बई जिला के बांद्रा में कृपा फाउन्डेशन की स्थापना 1981 में हुई। आज इसके पास भारत के 12 राज्यों में 69 सुविधाएं हैं और यूरोप, कनाडा और संयुक्त राज्य अमेरिका के अन्य समूहों के साथ सहयोग करता है, जहां यह 40 केंद्र संचालित करता है।

समारोह में पुलिस अधिक्क्षक अधीक्षक राज तिलक रोशन, और वसई के महाधर्माध्यक्ष फेलिक्स मचादो भी शामिल थे।

बच्चों को छोटे दल में विभक्त किया गया और उन्होंने बहुत अच्छी तरह से नाच गान वगैरह प्रस्तुत किया। फादर ने बताया कि अधिकांश बच्चे उन्हें पापा, बाबा, या डैडी पुकारते हैं कुछ तो उसे अई (माँ) भी करते हैं।

उन्होंने कहा कि ये बच्चे उन्हें बहुत प्यार करते हैं। उनके कृतज्ञभाव की अभिव्यक्ति देखकर मैं ईश्वर से पूछता हूँ क्या मैं वाकई उनके प्यार के योग्य हूँ। प्रार्थना में वे मुझे जवाब देते हैं, ″तुम मेरे प्यारे हो.... क्योंकि तुमने यह सब मेरे लिए ही तो किया है। यही संत मदर तेरेसा का आदर्श था गरीबों से गरीब लोगों की सेवा करना।″


(Margaret Sumita Minj)

03/01/2018 14:54