Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ एशिया की कलीसिया

काथलिक कलीसिया द्वारा,मिंदानाओ में तूफान पीड़ितों की मदद जारी

मिंदानाओ के लोग अपने घरों को छोड़ते हुए - AFP

03/01/2018 16:05

 मनिला, बुधवार 3 जनवरी 2018 ( एशियान्यूज)   : फिलीपीन्स की कारितास और फिलीपींस के काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के समाज सेवा विभाग (नास्सा) ने समुद्री तूफान से प्रभावित इलाकों के लोगों की मदद जारी रखा है।

 दक्षिणी फिलिपीनो द्वीप, जहां देश के ज्यादातर मुसलमान रहते हैं उन्होंने  मिंदानाओ के काथलिक कलीसिया की मानवतावादी प्रतिबद्धता  ‘ड्यूओग मारावी’ के सहायता संबंधी सभी पहलों के लिए धन्यवाद दिया।

ड्यूओग मारावी हाल ही में हुए संघर्ष से विस्थापित लोगों को सहायता प्रदान कर रहा है। साथ ही 13 तटीय समुदायों के मुसलमानों की मदद कर रहा है जिनके तुफान में जीविका के साधन सबकुछ नष्ट हो गये हैं और उन्हें बुनियादी जरुरत की चीजों की आवश्यकता है। काथलिक कलीसिया के दो संगठन वितरित कर रहे हैं। उन लोगों के लिए पेय जल, भोजन, राशन, स्वच्छता किट, गरम कपड़े कंबल और आपातकालीन आपूर्ति प्रदान की जा रही है।

लिगान शहर की एक महिला ने एशिया समाचार से कहा, "हम सब फिलीपींस की कारितास के प्रति आभारी हैं जिन्होंने मारावी संघर्ष के समय से ही हमारी मदद करते आ रहे हैं। हम पहली बार ख्रीस्तीयों से मदद पा रहे हैं।”

दागररामपियन निवासी उम्पिया एम. दूरा के पास चावल मिल थी जो विनता तुफान में द्वारा बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। ड्यूओग मारवाई स्वयंसेवकों ने स्थानीय निवासियों से मिलने के दौरान उनसे भी मुलाकात की। श्री उम्पिया एम. दूरा ने अपना आभार प्रकट करते हुए कहा, "मेरे चावल मिल की जांच करने के लिए यहां आने हेतु मैं आपका धन्यवाद करता हूँ। इसके लिए, मैं हमेशा आपके प्रति कृतज्ञ बना रहूँगा।"

कारितास फिलीपींस के संचार और विकास विभाग के प्रमुख जिंग रेय हेंडरसन ने एशियान्यूज़ से कहा, " ‘ड्यूओग मारावी’ काथलिक कलीसिया के मारवाइ घेराबंदी से बचाने वाले दो कार्यक्रमों में से एक है"

 “फिलहाल हम विनता तुफान से क्षतिग्रस्त लोगों की मदद कर रहे हैं जिसमें 100 से भी ज्यादा कारितास के कार्यकर्ता इसमें काम कर रहे हैं।" तुफान विन्ता ने मिनदनाओ क्षेत्र को प्रभावित किया है जिसके कारण लगभग 1,18,596 परिवारों को विस्थापित होना पड़ा है जबकि कुल 300 लोगों की मौत हो गयी है एवं 176 लोग लापता हैं। इस खराब मौसम ने देश में खतरा बनाये रखा है।


(Margaret Sumita Minj)

03/01/2018 16:05