Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ विश्व की कलीसिया

माता-पिता बच्चों को प्रौढ़ बनने में मदद दें, संत पापा

पवित्र परिवार की तस्वीर - RV

02/01/2018 14:48

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 2 जनवरी 2018 (जेनित): माता-पिता बच्चों को प्रौढ़ बनने में मदद दें। यह बात संत पापा फ्राँसिस ने रविवार 31 दिसम्बर को देवदूत प्रार्थना के पूर्व दिये गये अपने संदेश में कही।

वाटिकन स्थित संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में एकत्रित तीर्थयात्रियों को देवदूत प्रार्थना के पूर्व सम्बोधित करते हुए उन्होंने गौर किया कि परिवार में बच्चों का विकास बड़े आनन्द का विषय होता है।

संत पापा ने कहा, "सुसमाचार हमें निमंत्रण देता है कि हम माता मरियम, जोसेफ एवं येसु के जीवन के अनुभवों पर चिंतन करें कि वे परिवार के रूप में एक साथ आपसी प्रेम एवं ईश्वर पर भरोसा में बढ़े।" उन्होंने कहा कि पवित्र परिवार ने अपने पुत्र को मंदिर में समर्पित कर संहिता को पूरा किया, इस बात को स्वीकार करते हुए कि ईश्वर ही प्रत्येक व्यक्ति एवं परिवार के मालिक हैं।

उन्होंने कहा कि बच्चे ईश्वर से आते हैं तथा माता-पिता उनके जीवन के संरक्षक हैं मालिक नहीं। परिवार जो घायल हैं अथवा असफलता से रेखांकित हैं उन सभी के लिए पुनरूत्थान का द्वार खुला है।

संत पापा ने कहा कि "हर परिवार इस प्राथमिकता को समझने, बच्चों की रक्षा करने, उन्हें शिक्षा देने तथा ईश्वर के प्रति अपने को खुला रखने के लिए बुलाया गया है जो जीवन के स्रोत हैं।"  

संत पेत्रुस महागिरजाघर के प्राँगण में एकत्रित विश्वासियों को सम्बोधित कर संत पापा ने स्मरण दिलाया कि ख्रीस्त सचमुच हम में से एक हैं, ईश्वर के पुत्र ने अपने को एक बालक बनाया, बढ़ना तथा बल प्राप्त करना स्वीकार किया जबकि वे प्रज्ञा एवं ईश्वर की कृपा से पूर्ण थे।

संत पापा ने विगत साल के लिए तथा ईश्वर से प्राप्त हर कृपादान के लिए ईश्वर को धन्यवाद देने का आह्वान किया। 


(Usha Tirkey)

02/01/2018 14:48