Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

संत पापा ने कार्डिनल मारिडागा पर लगे झूठे इल्जाम पर खेद प्रकट की

टेगुसिगलपा के महाधर्माध्यक्ष, कार्डिनल ओस्कर एन्ड्रेस रोड्रीग्स मरिडागा - ANSA

27/12/2017 16:15

वाटिकन रेडियो, बुधवार 27 दिसम्बर 2017 (वाटिकन रेडियो) : ″आपके खिलाफ उन्होंने जो बुराई की है, उनके लिए मुझे खेद है।″ उक्त बातें संत पापा फ्राँसिस ने कार्डिनल के खिलाफ आरोपों के मद्देनजर कार्डिनल रोड्रिग्स को टेलीफोन में कही।

टेगुसिगलपा के महाधर्माध्यक्ष, कार्डिनल ओस्कर एन्ड्रेस रोड्रीग्स मरिडागा जो काथलिक यूनिवर्सिटी होंडुरास के कुलपति हैं, उनपर यूनिवर्सिटी से प्राप्त बड़े रकम के गलत उपयोग के संबंध में पत्रकारों ने आरोप लगाया है। ‘चर्च ऑफ होंडुरास’ नामक एक टीवी चैनल ‘सुअपा’ टीवी को दिये गये एक साक्षात्कार में, कार्डिनल ने आरोपों को कलंक के रूप में परिभाषित किया।

फोन में संत पापा ने कहा : आप चिंता न करें

रोमन कुरिया के सुधार पर संत पापा को सहयोग देने वाले कार्डिनलों की परिषद ‘सी 9’ में कार्डिनल ओस्कर समन्वयक की भूमिका निभाते हैं, ने कहा कि उनके पास एकजुटता के कई सबूत हैं, यहां तक कि गैर काथलिक व्याख्याताओं के भी। संत पापा ने फोन में कहा,″आपके खिलाफ उन्होंने जो बुराई की है, उनके लिए मुझे खेद है। आप चिमता न करें।″ इसपर कार्डिनल ने जवाब दिया,″मैं शांति में हैं क्योंकि मैं येसु मसीह के साथ हूँ जो सबके हृदय को जानते हैं।″  

झूठा आरोप : धन गरीबों के लिए इस्तेमाल किए गए

आरोपों की जांच ‘एल एस्प्रेसो’ के एक पत्रकार द्वारा की गई, जिन्होंने हौंडुरस कार्डिनल द्वारा काथलिक यूनिवर्सिटी होन्डुरास द्वारा भुगतान किए गए हज़ारों यूरो का अनुचित उपयोग बताया है। बदले में कार्डिनल ने पत्रकार पर "पेशेवर नैतिकता" या विश्वसनीयता न होने और एक गलत तरीके से पैसे कमाने का आरोप लगाया है। कार्डिनल ने कहा कि यह पुरानी खबर है, जो 2016 में ही फैल चुका था और विश्वविद्यालय के पूर्व कर्मचारी द्वारा गुमनाम रूप से संस्थान के धन के गलत तरीके से उपयोग के लिए खारिज कर दिया था। कार्डिनल मारिडागा याद करते हैं कि प्राप्त धन निजी प्रयोजनों के लिए नहीं, लेकिन गरीबों की मदद के लिए, गरीबों को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने और ग्रामीण पल्लियों के पुरोहितों को सहारा देने के लिए उपयोग किया जाता है।

यह हमला उन लोगों का है, जो सुधार नहीं चाहते

सी 9 के समन्वयक यह समझना चाहते हैं कि एक साल पुरानी बात को फिर से सामने क्यों लाया गया जब वे  टेगुसिगलपा महाधर्मप्रांत के नेतृत्व से सेवा निवृत होना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि उनपर आरोप लगाना संत पापा पर आरोप लगाना है। यह आरोप उन लोगों द्वारा लगाया गया है जो कूरिया में सुधार नहीं चाहते हैं।

अंत में, अपने त्यागपत्र के संबंध में, उन्होंने पुष्टि की कि वे समान रूप से खुश होंगे, चाहे संत पापा इसे स्वीकार करें या इसे अस्वीकार करें। उन्होंने 39 वर्षों से धर्माध्यक्ष और 25 वर्षों से टेगुसिगलपा के महाधर्माध्यक्ष के रुप में सेवा प्रदान की है।


(Margaret Sumita Minj)

27/12/2017 16:15