Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

महाधर्माध्यक्ष ने मतदान से पहले परिवर्तन की मांग की

मेघालय का मानचित्र - RV

27/12/2017 16:34

शिलॉग, बुधवार 27 दिसम्बर 2017 (मैटर्स इंडिया) : महाधर्माध्यक्ष दोमनिक जाला ने मेघालय की वर्तमान स्थिति में बदलाव के लिए कहा जो राज्य में 2018 विधानसभा चुनावों की तैयारी कर रहे हैं

अगले चुनाव की तैयारी में लगे मेघालय के लिए संदेश पूछे जाने पर महाधर्माध्यक्ष जाला ने कहा, "हमें उन लोगों की ज़रूरत है जो बदलने के लिए तैयार हैं, विधायक लोग जो वास्तव में कानूनों और नीतियों को बना सकें जिससे परिवर्तन लाया जा सकें। "

उन्होंने उन प्रतिनिधियों के प्रति अफसोस प्रकट किया जो सिर्फ उपयोगी वस्तुओं को वितरित करते हैं और उन्होंने जोर देकर कहा कि विधायकों का प्राथमिक कर्तव्य लोगों के लिए फायदेमंद कानूनों और उन नीतियों को बनाना है जो गरीबों और जरूरतमंदों को सशक्त बना सके।

महाधर्माध्यक्ष ने कहा,“विभिन्न स्थानों का दौरा किया है और मैंने ग्रामीण इलाकों के गरीबों, किसानों और दूर दराज इलाकों में रहने वाले लोगों की दुर्दशा देखी है, जहां संचार, स्वास्थ्य सेवाएं और शैक्षिक सुविधाएं बहुत खराब हैं। हम अच्छे प्रशासन का दावा नहीं कर सकते हैं हमें लोगों की दुर्दशा को बदलना है।"

उन्होंने कहा,“दुर्भाग्य से हमारे कुछ लोग केवल वस्तुओं के वितरण में व्यस्त हैं और कुछ लोगों की जरुरतों को पूरा करने में ही संतुष्ट हैं लेकिन इससे कुछ परिवर्तन होने वाला नहीं है।"

महाधर्माध्यक्ष ने कहा मेघालय के लोगों को एक ऐसी सरकार चाहिए जिसके पास  राज्य के लिए दीर्घकालिक योजना हो और उसे कार्यरुप करने की क्षमता हो। हमारे पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम की तरह, जिन्होंने राज्य को 20, 25, 35 साल आगे सोचने में मदद करने की कोशिश की थी। हमारी आशा है कि इस तरह के दूरदर्शी लोग हमारे सरकार में हों। जो कोई भी सरकार बनायें, हमें कोई फर्क नहीं पड़ता। ख्रीस्तीय होने के नाते हम अपने देश की भलाई के लिए प्रार्थना करते हैं।"

उन्होंने कहा, "सरकार को केवल कुछ क्षेत्रों पर विकास को नहीं देखना चाहिए, लेकिन इसे समग्र विकास पर ध्यान देना चाहिए।"


(Margaret Sumita Minj)

27/12/2017 16:34