Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ मुलाक़ात

संत पापा ने इटालियन आवर्ती प्रेस संगठन और काथलिक सप्ताहिक संघ को संबोधित किया

संत पापा फ्राँसिस - AP

16/12/2017 16:00

वाटिकन सिटी,शनिवार 16 दिसम्बर 2017 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने वाटिकन के संत क्लेमेंटीन सभागार में इटालियन आवर्ती प्रेस संगठन(यूएसपीआई) और इतालवी काथलिक सप्ताहिक संघ (एफआईएससी) के सदस्यों से मुलाकात की।

संत पापा सहृदय उनका स्वागत करते हुए डॉन जोर्जियो ज़ुकेली को उनके परिचय और स्वागत भाषण के लिए धन्यवाद दिया। संत पापा ने कहा, मैं आपको, समाचार और डिजीटल मीडिया और छोटी प्रकाशन कंपनियों और गैर-लाभकारी संगठनों और संघों में प्रकाशित या प्रेषित लगभग तीन हज़ार अखबारों के प्रतिनिधियों का स्वागत करता हूँ।

आज की दुनिया में आपका कार्य या कहें आपका मिशन बहुत ही महत्वपूर्ण है। आपको हर किसी के सामने वास्तविक तथ्यों को यथासंभव स्पस्ट रुप से प्रस्तुत करना है। जटिल समस्याओं को सामान्य लोगों के लिए सरल और सुलभ कराने हेतु कहा जाता है ताकि विशेषज्ञों के लिए उपलब्ध ज्ञान और उनके प्रसार की ठोस संभावना के बीच संबंध बनाई जा सके।

आपकी आवाज़, स्वतंत्र और जिम्मेदार, किसी भी समाज के विकास के लिए मौलिक है जो कि लोकतांत्रिक कहलाता है, ताकि वास्तविक और सही ढंग से रिपोर्ट किए गए आंकड़ों के आधार पर विचारों का निरंतर आदान-प्रदान और लाभदायक बहस सुनिश्चित हो सके।

आज की दुनिया में सनसनीखेज सूचना के बदले विश्वसनीय जानकारी की आवश्यकता है जो डेटा और सत्यापित समाचार हो, जो विस्मय और उत्तेजित करने के उद्देश्य से नहीं बल्कि पाठकों को स्पस्ट महत्वपूर्ण समझ विकसित करने के लक्ष्य से हो।जो उन्हें उचित निष्कर्ष तक पहुँचने में मदद करती है। आस प्रकार आप बड़े पैमाने में सूचना अभियान क गल्तियों से बचे रहेंगे।

 संत पापा ने इतालवी काथलिक सप्ताहिक संघ (एफआईएससी) की स्थापना के 50 वीं वर्षगांठ पर विशेष शुभकामनायें दी। उन्होंने कहा कि ये संघ सुसमाचार प्रचार का उपयोगी उपकरण हो सकते हैं, एक ऐसी जगह जहाँ धर्मप्रांतीय जीवन को मान्य रूप से व्यक्त किया जा सकता है और विभिन्न मुद्दों पर आसानी से बातचीत और चर्चाएं की जा सकती हैं।

धर्मप्रांतीय सप्ताहिक संघ डिजिटल संचार के नए रूपों के साथ बहुमूल्य और प्रभावी उपकरण एकीकृत करते हैं, सार्वजनिक प्राधिकरणों के हित का ध्यान में रखते हुए पुरोहितों और पूरे ख्रीस्तीय समुदाय के लिए  आवश्यक है। 

संत पापा ने कहा, ″इस बैठक के अंत में, आप यूएसपीआई और एफआईएससी के सदस्यों को , प्रतिबद्धता और विश्वास के साथ अपना काम जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करना चाहता हूँ और मैं सिविल सोसायटी और उसके संस्थानों को यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए आमंत्रित करता हूं कि मीडिया और लघु प्रकाशन उद्योग अपने अपूरणीय कार्य को पूरा कर सके, प्रामाणिक बहुलवाद की रक्षा और विभिन्न स्थानीय समुदायों और उनके क्षेत्रों की आवाज बन सके।

संत पापा ने वहाँ उपस्थित आवर्ती प्रेस संगठन(यूएसपीआई) और इतालवी काथलिक सप्ताहिक संघ (एफआईएससी) के सदस्यों और उनके परजनों को याद करते हुए ख्रीस्त जयंती की शुभकानाएँ और आशीर्वाद दिया तथा अपने लिए भी प्रार्थना की अपील करते हुए उन्हें विदा किया।  


(Margaret Sumita Minj)

16/12/2017 16:00