Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ एशिया की कलीसिया

फिलिपींस में ड्रग-युद्ध हत्याओं को अंत करने हेतु जुलूस की मांग

5 नवंबर को मनिला के एक ऐतिहासिक राजमार्ग पर नशीली दवाओं से संबंधित हत्याओं का अंत करने के लिए मोमबत्ती जुलूस - EPA

08/11/2017 14:40

मनिला, बुधवार 8 नवम्बर 2017 (ऊकान) : फिलीपीन के सैकड़ों काथलिकों ने 5 नवंबर को मनिला के एक ऐतिहासिक राजमार्ग पर देश में नशीली दवाओं से संबंधित हत्याओं का अंत करने के लिए मोमबत्ती जुलूस किया।  

पुरोहितों और धर्मबहनों ने एक काथलिक गिरजाघर से राजमार्ग होते हुए जुलूस का नेतृत्व उस स्मारक तक किया जहाँ 1986 में शांतिपूर्ण विद्रोह "लोक शक्ति" द्वारा पूर्व तानाशाह फर्दिनंद मार्कोस को पद से हटा दिया गया था।

जुलूस शुरु करने के पहले पवित्र यूखरिस्त समारोह के दौरान फिलीपीन धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष सुकरात विल्लेगस ने  फिलीपीन सेना और पुलिस से हत्याओं को रोकने और कानून के शासन का पालन करने की मांग की।

महाधर्माध्यक्ष ने कहा, "यदि आप भ्रष्टाचार का सामने करना चाहते हैं तो वर्दीधारी पुरुष और महिलाएं आप उठकर खड़े हो जायें, अपने अधिकारियों से नैतिक नेतृत्व की मांग करें। कठोरता को नहीं अपितु सच्चाई को चुनें। ईश्वर के पास लौटें और बुरे लोगों के बजाय ईश्वर की आज्ञाओं का पालन करें।"

 महाधर्माध्यक्ष विल्लेगस ने शांति प्रार्थना के माध्यम से "देश को चंगा" करने के लिए धर्माध्यक्षों के अभियान का शुभारंभ किया। ईश्वर हमारे देश का चंगा करे। उन्होंने इस महिने के शुरुआत में अवैध ड्रग्स के खिलाफ सरकार के युद्ध से जुड़े तथाकथित अतिरिक्त न्यायिक हत्याओं के शिकार लोगों के लिए प्रार्थना करने की।

महाधर्माध्यक्ष विल्लेगस, नशाली दवाओं पर युद्ध के खिलाफ राष्ट्रपति रॉड्रिगो ड्यूटेरटे के एक स्पस्टवादी आलोचक हैं उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा, "एक शाप देश की प्रतीक्षा करता है जो अपने ही लोगों को मारता है।"

धर्माध्यक्षीय सम्मेलन के पूर्व अध्यक्ष ने अफसोस जताया कि बहुत से फिलीपीनी "हत्याओं की सराहना करते हैं" और "शांति की बजाय हिंसा का चुनाव करते हैं।" उन्होंने कहा, "हम इसमें शामिल होने की तुलना में चुप रहना पसंद करते हैं। गलत में विश्वास करना, यह पहले से ही अंतिम कार्ड है, हमने सभी प्रकार के नेतृत्व को चुना है ...अब हम निराश हो गए हैं।"

धर्माध्यक्ष और पुरोहित भी दोषी हैं

महाधर्माध्यक्ष विल्लेगस ने अपने कुछ धर्माध्यक्ष भाइयों और पुरोहितों की भी भर्तसना की जो सुख-सुविधा और आराम की जिन्दगी जी रहे हैं। नम्र और निष्ठावान होने की बजाय नाम और रुतबा के पाछे पड़े हैं। उन्होंने कहा कि काथलिक कलीसिया के नेताओं में "एकता की तलाश करने की बजाए न्याय करने की प्रवृत्ति है" और हम चुप रहते हैं "जहाँ हमें बोलना चाहिए।"

"ईश्वर हमें माफ करें, अपनी कलीसिया के नेताओं पर दया करें।," उन्होंने कहा, " धर्माध्यक्ष भाईयो और पुरोहितो, हमें पाप से दूर रहने और पश्चाताप करने के लिए हमें सबसे पहले नम्बर में होना चाहिए।"  

उन्होंने देश के राजनेताओं को भी यह पूछते हुए करारा आघात किया, "यह सुनिश्चित है कि आपकी पत्नी या पति या बेटी या बेटा अगले चुनावों में जीत जायेंगे परंतु दुनिया को हासिल करके आपको क्या लाभ होगा,... जब आप अपनी आत्मा खो देंगे?" "कोई सरकार हमेशा के लिए नहीं है। कोई राजनीतिज्ञ हमेशा के लिए नहीं है। केवल ईश्वर हमेशा के लिए है।"


(Margaret Sumita Minj)

08/11/2017 14:40