Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ विश्व की कलीसिया

अमाजोन के धर्माध्यक्ष पान-अमाजोन धर्मसभा के लिए संत पापा के अभारी हैं

ब्राजील के मकापा में अमेज़ॅन नदी - AFP

18/10/2017 15:58

केयेन्ने, बुधवार, 18 अक्टूबर 2018 (वीआर,रेई) : फ्रेंच गयाना में केयेन्ने के धर्माध्यक्ष ऐमानुएल लेफोंन ने संत पापा फ्राँसिस द्वारा पान-अमाजोन क्षेत्र के लिए धर्माध्यक्षों की विशेष धर्मसभा का घोषणा की खबर सुनकर खुशी जाहिर करते हुए कहा, "मैं बहुत खुश हूँ और संत पिता के प्रति आभारी हूं जिन्होंने इस धर्मसभा को बुलाया है जो कि सबसे महत्वपूर्ण है।"

धर्माध्यक्ष ऐमानुएल ने वाटिकन रेडियो को बताया कि पान-अमाजोन क्षेत्र में फ्रेंच गयाना, सूरीनाम, गयाना, वेनेजुएला, इक्वाडोर, कोलंबिया, बोलीविया, पेरू और ब्राजील देश आते हैं। संत पापा ने घोषणा के दौरान पूरे ग्रह (क्षेत्र) के लिए आवश्यक 'फेफड़े' होने की बात कही थी। इस क्षेत्र को परिभाषित करने वाले छह मिलियन वर्ग किलोमीटर आदिवासी जनजातियों और आदिम जातियों का घर है जिनका बाहरी लोगों से कोई संबंध नहीं हैं उनकी संस्कृतियों और उनके अस्तित्व को बड़े पैमाने पर बाहरी लोगों के प्रवेश, खनन और अन्य औद्योगिक परियोजनाओं के साथ-साथ प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन से भी खतरा है।

 आदिवासियों को मिलने वाले लाभ के बारे उन्होंने कहा, “सर्वप्रथम वे वहाँ के बसिंदे हैं और पिछले 500 वर्षों से उनका शोषण और गलतफहमी का लंबा इतिहास है।"

धर्माध्यक्ष ने कहा, “दूसरा कारण जिसके लिए वे आभारी है, कि अमाजोन, प्रकृति के संरक्षण के लिए दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक है और यह वर्तमान में कई चुनौतियों का सामना कर रहा है।”

 इस क्षेत्र की सुरक्षा के लिए और पूरी दुनिया की सुरक्षा के लिए कलासिया को और भी अधिक जोर से अपनी आवाज उठानी चाहिए।


(Margaret Sumita Minj)

18/10/2017 15:58