Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

इस्लामिक आतंकवादियों द्वारा रिहा फादर टॉम ने प्रधान मंत्री से की मुलाकात

नई दिल्ली में फादर टॉम उज़ुनालिल अपनी रिहाई के बाद, 28.09.2017 - EPA

29/09/2017 11:38

नई दिल्ली, शुक्रवार, 29 सितम्बर 2017 (ऊका समाचार): इस्लामिक आतंकवादियों द्वारा 18 माहों बाद यमन में रिहा किये गये काथलिक पुरोहित फादर टॉम उज़ुनलिल ने गुरुवार को प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी तथा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का साक्षात्कार कर उनके प्रति हार्दिक आभार व्यक्त किया।

पत्रकारों से फादर टॉम ने कहा कि वे अपने अपहरणकर्त्ताओं से नाराज़ नहीं हैं तथा उनके लिये ईश्वर से प्रार्थना करते हैं। फादर टॉम उज़ुनलिल यमन में इस्लामिक आतंकवादियों द्वारा बन्धक रखे गये थे। फादर ने बताया कि उनके अपहरणकर्त्ताओं ने उनके साथ दुर्व्यवहार नहीं किया, वे उन्हें समय-समय पर भोजन देते रहे और कभी भी उन्होंने उन्हें किसी प्रकार की चोट नहीं पहुँचाई। 

उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें इस बात का पता नहीं कि उनकी रिहाई के लिए कोई फिरौती राशि का भुगतान किया गया था अथवा नहीं। तथापि, वे उन सबके प्रति आभार व्यक्त करते हैं जिन्होंने उनकी रिहाई के लिये प्रयास किया तथा उनके लिये दुआएँ की।

पत्रकारों से फादर टॉम ने कहा कि ईश्वर की कृपा से उन्हें कभी यह भय नहीं लगा कि अगले क्षण उन्हें मार डाला जायेगा। उन्होंने कहा, "यदि ईश्वर में हमारा विश्वास अटल है तो उनके ज्ञान के बिना कुछ नहीं हो सकता। उनकी अनुमति के बग़ैर कोई घटना नहीं होती चाहे वह सुखद हो या दर्दनाक।"  

मार्च 2016 में, यमन के एडेन में मदर तेरेसा के मिशनरीज़ ऑफ चैरिटी द्वारा स्थापित वृद्धाश्रम को आतंकवादियों ने घेर लिया था तथा कई लोगों की हत्या कर दी थी। इनमें भारत की एक धर्मबहन सहित चार काथलिक धर्मबहनें भी मारी गई थीं। इसी अवसर पर आतंकवादियों ने फादर टॉम का अपहरण कर लिया था।


(Juliet Genevive Christopher)

29/09/2017 11:38