Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

एनजीओ ‘सुरक्षा’ संगठन द्वारा पीड़ित लड़कियों का संरक्षण

सैन्य बल द्वारा हिंसा का शिकार महिलाएँ - AFP

13/09/2017 14:41

बेलगावी, बुधवार 13 सितम्बर 2017(फीदेस) : कर्नाटक राज्य के एनजीओ ‘सुरक्षा’ संगठन  ने बाल विवाह, सेक्स मार्केट, मानव तस्करी, वेश्यावृत्ति के लिए बेची जाने वाली लड़कियों को सुरक्षा प्रदान करने उनके पुनर्वास और उन्हें समाज की मुख्य धारा से जोड़ने का कदम उठाया है।

संगठन ने फीदेस को बताया कि दो काथलिक धर्मबहनों पुष्पलता और लूर्द जोसेफ के नेतृत्व में संगठन का कार्य चल रहा है पर उन्हें अक्सर लड़कियों की तस्करी करनेवाले अपराधिक संगठनों द्वारा डराया और धमकाया जाता है।  स्थानीय पुरोहित फादर नथानाएल क्रूज ने फीदेस से कहा, "यह एक प्रशंसनीय काम है, ये धर्मबहनें हर दिन अपने जीवन को खतरे में डालती हैं, क्योंकि वे लड़कियों के शोषण अपराधी संगठनों के विपरीत कार्य करती हैं"।

उन्होंने कहा कि बचाई गई कई लड़कियां अब स्कूलों और कॉलेजों में या व्यावसायिक पाठ्यक्रमों का अध्ययन कर रही हैं। ‘सुरक्षा’ संगठन के 2015-2016 के वार्षिक रिपोर्ट अनुसार संगठन द्वारा कर्नाटक राज्य के कालबुर्गी, बेंगलुरु और बेलगावी के देहात क्षेत्रों की 21,674 लड़कियों को सहायता दी गई थी। गोवा, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे, हैदराबाद, दिल्ली और कोलकाता की ओर जाने वाली मानव तस्करी के चौराहे बेलगावी जिले में पांच समुदायों द्वारा 45,000 से अधिक लोगों को सहायता दी गई है।


(Margaret Sumita Minj)

13/09/2017 14:41