Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ एशिया की कलीसिया

″शांति की संस्कृति″ के लिए ख्रीस्तीय, मुस्लिम और आदिवासी एक साथ

- EPA

30/08/2017 16:31

दावाओ, बुधवार, 30 अगस्त 2017 (एशियान्यूज): ईसाई और मुसलमानों सहित विभिन्न धार्मिक पृष्ठभूमि के 100 युवाओं के एक दल ने, दक्षिण फिलीपींस के मिंडानाओ में "शांति की संस्कृति" को बढ़ावा देने हेतु आदिवासी प्रतिनिधियों के साथ एकजुटता दिखायी।

इस इलाके में संघर्ष जारी है, हाल ही में मारवाई में, 23 मई से इस्लामी राज्य और सरकारी बलों से जुड़े आतंकवादियों के बीच चल रहे खूनी टकराव के दृश्य देखे गये थे।

इस पहल की शुरूआत पिछली जून माह में जैबेलन लैंबक-कांडा के नेतृत्व वाले अलबेल, सरंगानी प्रांत में हुई थी, जो हॉली ट्रिनिटी कॉलेज के प्रोफेसर हैं। उनके साथ ज्वानर पंतवा, मिंडानाओ स्टेट यूनिवर्सिटी-जनरल सैंटोस सिटी के प्रोफेसर और सारहनगानी प्रांत के सरकारी विकास कार्यकर्ता, कहारुदिन दलातान भी शामिल हैं।

युवा उन सम्मेलनों में लगातार भाग ले रहे हैं जो उन्हें "शांति और सहानुभूति की संस्कृति" को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित करता है जो संघर्ष के समाधान में एक बुनियादी सूत्र है।

लैम्बक कांदा ने कहा, ″सशस्त्र संघर्षों के बीच जो फिलीपींस के युवाओं में घृणा, अविश्वास एवं कट्टरता लाता है, अपनी ऊर्जा, सहयोग और उत्साह के साथ युवा समाज में बदलाव ला सकते हैं।″

प्रोफेसर पंतवा ने कई कार्यशालाओं में, ″बदलती मोढ़, अपनी आंतरिक शांति की खोज″ विषय पर युवाओं को खुद में शांति की खोज करने एवं दूसरों को भी इसे बांटने की प्रेरणा दी।

पब्लिक स्कूलों के पाठ्यक्रम में ″शांति″ शिक्षा को शामिल करने हेतु अपना समर्थन प्रदर्शित करने के लिए पंतवा ने 'शिक्षकों के लिए शांति शिक्षा मापांक' के विकास में भी एक टीम का नेतृत्व किया।

16-18 मई को, युवा मोरो के प्राध्यापक ने मुस्लिम शिक्षकों के लिए 'तुडो कालिलिंटादः शांति की संस्कृति के प्रशिक्षण का आयोजन किया था जो सरंगानी के मुस्लिम शिक्षकों की भागीदारी को व्यक्त करता है।

काहारुदिन दलातेन ने कहा कि मिंडानाओ युवाओं की यह स्थिति उन्हें चिंतन करने और स्थानीय शासन में भाग लेने, हिंसक उग्रवाद और अवैध ड्रग्स आदि जैसे मुद्दों का सामना करने हेतु उनकी भूमिका को पहचानने में मदद कर सकता है।

कांदा और पंतवा दोनों ने संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 200 9 में, फिलीपींस के उत्कृष्ट युवा नेतृत्व पुरस्कार प्राप्त किया था, जबकि दलातेन 2016 में संयुक्त राष्ट्र विश्व शांति संघ, शांति-एशिया के  युवा राजदूत थे। सभी युवा नेता शांति के एक संस्कृति को बढ़ावा देने के माध्यम से अपने संबंधित समुदायों में समझ और एकता को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

 

 


(Usha Tirkey)

30/08/2017 16:31