Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ भारत की कलीसिया

आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं, मोदी

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी - AFP

28/08/2017 15:54

नई दिल्ली, सोमवार, 28 अगस्त 2017 (ऊकान): भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को हरियाणा में 36 लोगों की हत्या पर शोक व्यक्त किया जो ‘डेरा सच्चा सौदा’ के बाबा गुरमीत राम रहीम सिंह के अनुयायी थे तथा कहा कि आस्था के नाम पर हिंसा सहन नहीं की जा सकती तथा अपराधियों को निश्चय ही दण्ड दिया जाएगा।

ऑल इंडिया रेडियो पर अपने मासिक कार्यक्रम ‘मन की बात’ में मोदी जी ने गाँधी जयन्ती के पूर्व 15 दिनों के अभियान का आह्वान किया ताकि घरों में स्वच्छता के संदेश को प्रसारित किया जा सके। उन्होंने कहा कि नवीन भारत में उत्सव स्वच्छता का एक प्रतीक बने। 

अपने वक्तव्य में हाल में घटी हिंसक घटनाओं को ध्यान में रखते हुए किसी राज्य विशेष का नाम लिए बगैर प्रधानमंत्री ने कहा, जब पर्वों के कारण एक ओर उत्सव का माहौल है दूसरी ओर, देश के दूसरे हिस्से से हिंसा की खबर सुनाई पड़ती है, यह निश्चय ही चिंता का विषय है।″ 

उन्होंने कहा, ″मैं अपने देशवासियों को आश्वासन देना चाहता हूँ कि जो लोग कानून को अपने हाथों में लेते हैं तथा हिंसक दबाव के रास्ते पर हैं चाहे यह कोई व्यक्ति हो अथवा दल, न तो यह देश और न ही कोई सरकार इसे बर्दाश्त करेगी। हरेक व्यक्ति को कानून के अनुसार जीना है कानून इस जवाबदेही को ठीक करेगा और दोषी निश्चय ही दंडित किया जाएगा।"

मोदी ने कहा, ″हम बचपन से ही सुनते और बोलते आ रहे हैं कि अहिंसा परम धर्म है। अपने सम्बोधन में मैंने लाल किल्ला से कहा है कि आस्था के नाम पर हिंसा बर्दाश्त नहीं की जायेगी चाहे यह सामुदायिक हो, राजनीतिक विचारों से प्रेरित हो, किसी व्यक्ति, परम्परा अथवा संस्कृति से जुड़ा हो। अपने आस्था के कारण कानून को अपने हाथों में लेने का अधिकार किसी को नहीं है।

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को कम से कम 30 लोग मारे गए जब हरियाणा के पंचकुला शहर में सुरक्षाबलों ने गोलीबारी की। सीबीआई की अदालत ने गुरमीत राम रहीम सिंह को बलात्कार और यौन शोषण का दोषी करार दिया है। सिरसा में छह लोग मरे, जहां डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय स्थित है।


(Usha Tirkey)

28/08/2017 15:54