Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

तंजानिया द्वारा बुरुंडी के शरणार्थियों को नागरिकता देने की घोषणा

पूर्वी अफ्रीका के शरणार्थी - AFP

25/08/2017 16:02

तंजानिया, शुक्रवार, 25 अगस्त 2017 (फिदेस) तंजानिया ने देश में 45 वर्षों से रह रहे बुरूंडी शरणार्थियों को नागरिकता देने की घोषणा की है।

शरणार्थियों संयुक्त राष्ट्र संघ के प्रवक्ता तेरेसा ओंगारो ने पूर्वी अफ्रीका को दिये गये एक वक्तव्य में कहा कि यह तंजानिया के गृह मंत्री मविगुलु  न्चेम्बा और संयुक्त राष्ट्र संघ शरणार्थियों के आला अधिकारी वोल्कर तुर्क के मध्य वार्ता का प्रतिफल है। “तंजानिया की सरकार ने युएनएचसीआर के साथ मिलाकर सन् 1972 से देश में निवा कर रहे बुरूंडी शरणार्थियों को नागरिकता देने की प्रक्रिया शुरू की है।”

युएनएचसीआर के ताजा आँकड़ों के मुताबिक तंजानिया ने 1972 में बुरूंडी से निर्वासित करीबन दो लाख तैंतालीस हजार पाँच सौ पैंसठ (2,43,565) लोगों में से एक लाख बासठ हजार (1,62,000) लोगों को नागरिकता देने की पहल की है।

विगत दो सप्ताह में हुए युएनएचसीआर के संग वार्ता में तंजानिया की सरकार ने इस बात पर अपनी सहमति जताई है कि बुरूंडी देशवासी अपना देश वापस लौटने को स्वतंत्र हैं और वे जो देश में विगत 45 वर्षों से रह रहे हैं उन्हें तंजानिया की सरकार नागरिकता देने को तैयार है।

तंजानिया के राष्ट्रपति जोन मागूफूली ने बुरूंडी वासियों से आग्रह किया है कि वे स्वेच्छा से अपने देश लौट सकते हैं। “मैं बुरूंडी के अपने पडोसियों से निवेदन करता हूँ कि वे स्वेच्छा से अपने देश को लौटते हुए देश की अर्थव्यवस्था को सबल बनायें जो दोनों देशों के बीच एक मजबूत संबंध को स्थापित करने में मदद करेगा।”

दोनों देशों के राष्ट्रपतियों के बीच मित्रतापूर्ण वार्ता के अनुसार यह बात सामने आई है कि 5000 की संख्या में निगारा जिले के कागेरा प्रांत में बुरूंडी निवासी अपने देश को लौटने हेतु तैयार हैं जबकि एक लाख पचास हजार (1,50,000) शरणार्थी पहले ही अपने देश को लौट चुके हैं। 


(Dilip Sanjay Ekka)

25/08/2017 16:02