Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

एजेईजा कारागार के विद्यार्थियों को संत पापा का संदेश

संत पापा फ्रांसिस - AP

25/08/2017 16:14

वाटिकन सिटी, शुक्रवार, 24 अगस्त 2017 (वीआर) संत पापा फ्रांसिस ने गुरुवार को एजेईजा कैदखाने विद्यार्थियों ने नाम अपना संदेश प्रेषित किया।

उन्होंने ने अपने संदेश में कहा, “बंदी गृह में हम अपनी गलती की सजा काट रहे हैं, यद्यपि यह हमारी गलतियों की सजा है फिर भी यह हमारे लिए फलदायक सिद्ध हो जहां हम अपने भविष्य को आशा की नज़रों से देख सकें, क्योंकि यदि नहीं होता है तो यह परिस्थिति हमें अपने आप में संकुचित कर देती और यह केवल सजा मात्र बन कर रह जाती है।”

संत पापा ने अपने संदेश में आगे कहा कि हमें आशा के साथ समाज में ऐसे लोगों को सम्मिलित करने की आवश्यकता है जिसके लिए सामाजिक व्यवस्था की आवश्यक है।

विदित हो कि महाविद्यालय केन्द्र की शुरूआत सन् 1994 में हुई थी जिसे बोनस आईरस के महाविद्यालय से संलग्न किया गया था जहाँ मुख्यतः समाजशास्त्र, कंप्यूटर विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी सहित अनुप्रयुक्त विज्ञान की कक्षाएँ संचालित की जातीं हैं।

संत पापा फ्रांसिस विद्यार्जन केन्द्र के युवाओं संग दूरभाष के माध्य जुड़े हुए हैं। कारागार में संगीत के नये पठन-पठन की शुरूआत को लेकर उन्होंने कहा, “संगीत के इस नये पाठ्यक्रम द्वारा आप अपने को समाज में व्यवस्थित कर सकेंगे। अपने बोनस आईरस के महाविद्यालय से अपनी पढ़ाई को जारी रखते हुए अपने को पहले ही समाज में व्यवस्थित कर लिया है।”  

उनकी सजा को सकारात्मक दृष्टिकोण देते हुए संत पापा ने कहा, “यह सजा हमें आशा में एक नये क्षितिज की ओर देखने हेतु प्रेरित करती है। मैं आप सभों से पुनः एक बार कहना चाहूँगा कि तकलीफ़ें हैं और ये सदा रहेंगी लेकिन हमारे जीवन की क्षितिज इन तकलीफों से बड़ी है। हमारी आशा हमें हमारी तकलीफों से पार ले जाती है।”

अपने संदेश के अंत में संत पापा ने युवाओं की देखरेख कर रहे एजेईजा महाविद्यालय के संस्थापक, संचालक और स्टाफ के सभी सदस्यों के प्रति भी अपनी कृतज्ञता अर्पित की। 


(Dilip Sanjay Ekka)

25/08/2017 16:14