Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ विश्व

हम हिंसा का परित्याग करें, केन्या के धार्मिक नेता

केन्या का सैन्य बल - AFP

11/08/2017 16:00

नैरोबी, गुरुवार 11 अगस्त 2017 (फीदेस) “हम हिंसा का परित्याग कर संवैधानिक रुप से युद्धों का समाधान निकाले।” उक्त बातें केन्या के धार्मिक नेताओं ने 8 अगस्त को हुए राष्ट्रपति चुनाव परिणाम की घोषणा के पूर्व बहुमुखी जनसभा संगोष्ठी के दौरान कही।

निर्गम मतानुमान के अनुसार चुनाव परिणाम पदमुक्त राष्ट्रपति उहरु केन्याटा के पक्ष में बतलाया जा रहा है जबकि विपक्षी उम्मीदवार रैला ओडिन्गा के संचार माध्यम, चुनाव प्रक्रिया और पूरे चुनाव परिणामों में हेरा-फेरी और हैकिंग का आरोप लगाया है।

यूरोपीय पर्यवेक्षकों ने इस बात का खंडन करते हुए कहा कि मतदान प्रक्रिया में किसी तरह के “केन्द्रीय या स्थानी हस्तक्षेप” के कोई भी निशान नहीं मिले हैं। केन्याई कलीसिया राष्ट्रीय समिति के सचिव कैनन पीटर कारंजा ने कहा कि हमने राष्ट्रपति उम्मीदवार मान्यवर रैला ओडिन्गा के आरोपों को गंभीरता से लिया है और हमें विश्वास है कि इएबीसी और मुख्य राजनीतिक दल इसकी जाँच करेंगे।

उन्होंने कहा, “हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है कि हम हिंसा और किसी प्रकार के विध्वंसकारी कार्यों का अंग न बनें।” उन्होंने ने केन्या के लोगों से आग्रह किया कि हम शांतिपूर्ण ढ़ंग से चुनाव नतीजों की प्रतीक्षा करें।

एक अन्य संवाद में केन्याई धार्मिक नेताओं ने केन्या में संपन्न हुए शांतिपूर्ण मतदान हेतु सुरक्षा बलों की प्रशंसा की।

विदित हो कि मतदान के दौरान छिटपुट घटनाओं में नैरोबी की झुग्गी-झोपड़ियों में करीब चार लोगों की जानें गयीं।


(Dilip Sanjay Ekka)

11/08/2017 16:00