Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

राष्ट्रीय तीर्थ अपारसिदा में देश के युवाओं को संत पापा का संदेश

अपारसिदा की माता मरिया के साथ संत पापा फ्राँसिस

01/08/2017 16:19

वाटिकन सिटी, मंगलवार, 1 अगस्त 2017 (रेई) : संत पापा फ्राँसिस ने ब्राजील के राष्ट्रीय तीर्थ अपारसिदा में राष्ट्रीय युवा संघ के युवाओं को संदेश प्रेषित किया, जो परैबा नही में अपारसिदा की मरियम की छवि के मिलने के 300वीं वर्षगांठ मनाने हेतु एकत्रित हुए हैं।

संत पापा ने युवाओं को संबोधित कर कहा कि अनिश्चितता, असुरक्षा औक अन्याय की परिस्थिति जो आप प्रतिदिन के जीवन में अनुभव करते हैं। इस अनिश्चितता में भी एक बात निश्चित है कि माता मरियम आशा का एक संकेत है जो युवाओं की चुनौतियों और कठिनाइयों को भली भाँति जानती हैं।

संत पापा ने याद दिलाया कि 300 साल पहले गरीब मछुआरों ने परैबा नदी में मछली मारने के दौरान अपने जाल में कीचड़ से सनी हुई मरियम की प्रतिमा का सिर पाया फिर दूसरी बार जाल फेंका तो उन्हें मरिया का बाकी शरीर मिला। यह भी ब्राजील वासियों के लिए महत्वपूर्ण संदेश है कि पहले देश विभिन्न कारणों से विभक्त था अब प्रभु के विश्वास ने उनमें एकता में लाया है।

संत पापा ने युवाओं को मिशनरी भावना जारी रखने हेतु प्रोत्साहित करते हुए कहा कि वे अपने आप को अपारसिदा की माता मरियम के सुपूर्द कर दें जिससे कि माता मरियम अपने घर-परिवार और समाज में प्रभु के प्रेम की ज्योति फैलाने और भाई-चारे का समाज बनाने हेतु उनका मार्गदर्शन कर सके।

अंत में संत पापा ने अपारसिदा की माता मरियम से युवाओं के लिए साहस की कामना की जिससे वे निर्भयता के साथ ईश्वर की बुलाहट को स्वीकार कर सकें और जरुरत मंदों की सेवा में अपने आप को उदारता पूर्वक दे सकें।


(Margaret Sumita Minj)

01/08/2017 16:19