Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

कलीसिया \ एशिया की कलीसिया

जीवन रक्षा नवीन सुसमाचार प्रचारकों के लिए महत्वपूर्ण - वाटिकन अधिकारी

नवीन सुसमाचार प्रचार हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष रीनो फिसीकेला - RV

01/08/2017 15:53

मनिला, मंगलवार, 1 अगस्त 2017 (वा रेडियो) : ″मानव जीवन की रक्षा एवं उसकी गरिमा को बढ़ावा देने के कार्यकलापों को नवीन सुसमाचार प्रचार से अलग नहीं किया जा सकता है। हमारे लिए जीवन बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि यह ईश्वर का दिया हुआ वरदान है अतः हमें जीवन की रक्षा और उसकी गरिमा को बढ़ावा देना चाहिए।″ उक्त बातें नवीन सुसमाचार प्रचार हेतु गठित परमधर्मपीठीय परिषद के अध्यक्ष महाधर्माध्यक्ष रीनो फिसीकेला ने मनिला के संत थोमस विश्वविद्यालय में आयोजित नवीन सुसमाचार प्रचार हेतु फिलीपींन्स की चौथी कॉग्रेस के दौरान कही।

फिलीपींन्स काथलिक धर्माध्यक्षीय सम्मेलन द्वारा ″एक मन और एक हृदय″ विषय पर 28 से 30 जुलाई तक कॉग्रेस का आयोजन किया गया था। फिलीपींन्स और पड़ोसी देशों के करीब 7000 की संख्या में लोकधर्मियों, पुरोहितों, धर्मबहनों और युवाओं ने कांग्रेस में भाग लिया। कांग्रेस प्रतिभागियों द्वारा मादक पदार्थों से संबंधित हत्याओं और कृत्रिम गर्भ निरोध को स्वीकार करने वाले समाज में कलीसिया की शिक्षा और नवीन सुसमाचार प्रचार की प्रासंगिकता पर उठाये प्रश्नों के जवाब महाधर्माध्यक्ष रीनो फिसीकेला ने कहा, ″आज दुनिया एक "अविवेकी आंदोलन" का सामना कर रही है। व्यापार क्षेत्र में नैतिकता का अभाव है। नैतिकता एक धार्मिक नजरिए से आती है जबकि नीति एक उचित विवेक से आता है।″ उन्होंने तर्क और नैतिकता पर जोर देने के लिए आग्रह करते हुए कहा, "विवेक द्वारा कार्रवाई तक पहुँचा जा सकता है।"

कांग्रेस संस्कृति और समाज में प्रभावी ढंग से सुसमाचार प्रचार के नए तरीकों को लागू करना चाहता है

कांग्रेस के विभिन्न सत्रों में नए सुमाचार प्रचार के विभिन्न विषयों जैसे नए मीडिया, नए आंदोलन, अंतरधार्मिक संवाद  और युवा उन्मुख दृष्टिकोण आदि पर विचार विमर्श किया गया। साथ ही परिवारों, स्कूलों, धर्मप्रचारकों, पल्लियों और सामाजिक न्याय आदि मुद्दों पर भी चर्चा की गई।


(Margaret Sumita Minj)

01/08/2017 15:53