Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

संत पापा फ्राँसिस \ अंजेलुस व संदेश

संत जोवाकिम और संत अन्ना के पर्व दिवस पर संत पापा का संदेश

संत पापा फ्राँसिस क्राकोव में युवाओं के साथ - AFP

26/07/2017 16:29

वाटिकन सिटी, 26 जुलाई 2017 (रेई) : आज काथलिक कलीसिया कुंवारी मरियम के माता-पिता संत जोवाकिम और अन्ना का पर्व मनाती है। ईश्वर ने उन्हें यह अनुपम कृपा प्रदान की कि उनकी पुत्री मरियम दुनिया के मुक्तिदाता येसु ख्रीस्त की माता बनें। संत जोवाकिम और संत अन्ना के पर्व दिवस पर संत पापा फ्राँसिस ने टवीट प्रेषित कर समाज और परिवार में नाना-नानी, तथा दादा-दादी के महत्वपूर्ण स्थान पर प्रकाश डाला।

संत पापा ने संदेश में लिखा,″पारिवारिक जीवन में दादा-दादी का बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान है वे मानवीय और धार्मिक विरासत को अपने बच्चों को देते हैं जो हर समाज के लिए बहुत जरूरी है!″  

विदित हो कि संत पापा फ्राँसिस ने 1 अगस्त 2016 को पोलैंड के क्राकोव में 31वें विश्व युवा दिवस के समापन समारोह में युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि वे अपने माता-पिता, दादा-दादी और बुजुर्गों की बातों को ध्यान से सुनें क्योंकि उनकी बातों में अनुभव और ज्ञान भरा है।

संत पापा ने युवाओं से कहा, “मैं नहीं जनता कि मैं अगले विश्व युवा दिवस पनामा में होऊँगा लेकिन मैं निश्चित रुप से कहता हूँ कि पेत्रुस होंगे। पेत्रुस आप से पूछेंगे कि क्या आप ने अपने दादा-दादियों और परिवार के बड़े जनों से वार्ता की है जिससे आप अपने अतीत को जान सकें। वे आप से पूछेंगे वर्तमान में जीने हेतु क्या आप में साहस और जज़्बा है, वे आप से जानना चाहेंगे कि क्या आप ने अपने भविष्य के लिए बीच बोया है।”


(Margaret Sumita Minj)

26/07/2017 16:29