Social:

RSS:

रेडियो वाटिकन

विश्व के साथ संवाद करती संत पापा एवं कलीसिया की आवाज़

अन्य भाषाओं:

विश्व की घटनायें \ एशिया

साम्यवादियों के साथ फिलीपींस शांति वार्ता विफल रही

कई हजार वामपंथी प्रदर्शनकारियों की प्रतिनिधि सभा में राष्ट्रपति रोड्रिगो बाद करते हुए, 24 जुलाई 2017 - EPA

24/07/2017 14:42

मनिला, सोमवार 23 जुलाई 2017 (ऊकान) : फिलीपींस में लगभग आधी सदी से विद्रोह कर रहे साम्यवादियों  के साथ शांति वार्ता का समय गत समाप्त होने के बाद राष्ट्रपति रोड्रिगो दूतेरते ने कहा कि अब उसे विद्रोहियों के साथ शांति वार्ता में अब कोई दिलचस्पी नहीं है।  

20 जुलाई के मरावी में सैन्य बल से मुलाकात कर अपने भाषण में कहा,″ मैं उनसे बात करना नहीं चाहता हूँ। उन्होंने मेरे बहुत से पुलिसों और सैनिकों को मारा है।″

राष्ट्रपति दूतेरते ने घोषणा की कि मरावी में आतंकवादी गुटों के साथ चल रहे संघर्ष को समाप्त करने के बाद सैन्य बलों के अभियान का अगला लक्ष्य कम्युनिस्ट न्यू पीपुल्स आर्मी विद्रोही होंगे।

उन्होंने कहा कि वे न्यू पीपुल्स आर्मी से भी बातें करना नहीं चाहते क्योंकि इन विद्रोहियों ने भी बहुत परेशान कर रखा है। राष्ट्रपति ने सरकारी बलों के खिलाफ साम्यवादी गुरिल्लों द्वारा हमले शुरू करने के बाद विद्रोहियों के साथ चल रहे शांति वार्ता को रोकने का आदेश दिया।

हाल ही में पालावान और उत्तरी कोटेबैटो के प्रांतों में विद्रोहियों द्वारा शुरू किए हमले में दो सैनिक मारे गए और दूतेरते के चार सुरक्षा गार्ड सहित पांच अन्य लोग घायल हो गए थे।

यह पहली बार नहीं है जब दूतेरते ने साम्यवादियों के साथ शांति वार्ता को रोक दिया है। गत फरवरी में विद्रोहियों ने एकतरफा संघर्ष विराम की घोषणा की थी फिर भी उन्होंने शांति वार्ता को रोक दिया था।

फिलीपींस की साम्यवादी पार्टी के संस्थापक निर्वासित विद्रोही नेता जोस मारिया सिसन ने कहा कि इस समय सरकार के "मार्शल लॉ और सामूहिक हत्या के जुनून" की वजह से शांति प्रक्रिया की आवश्यकता महसूस नहीं हो रही है।  


(Margaret Sumita Minj)

24/07/2017 14:42